बिहार की जनता के आशीर्वाद से ही दिल्ली में बैठा हूं : मोदी

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को भी बिहार का दौरा किया और अपने दौरों को लेकर विरोधियों की ओर से उठ रहे सवालों पर कहा, “मेरे बिहार आने से कुछ लोगों को खासी आपत्ति हो रही है। क्या बिहार में आना मना है? बिहार आना गुनाह है? बिहार की जनता के आशीर्वाद से ही मैं दिल्ली में बैठा हूं।” मोदी ने बिहार पूर्णिया, फारबिसगंज और दरभंगा में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए जहां बिहार के विकास का वादा किया, वहीं कांग्रेस, जनता दल (युनाइटेड) और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के महागठबंधन पर जमकर हमला बोला।

प्रधानमंत्री ने देश में असहिष्णुता के उठते सवाल पर भी दो शब्द कहना उचित समझा। इंदिरा गांधी की हत्या की तुलना गोहत्याओं से करते हुए मोदी ने कहा, “कांग्रेस के शासनकाल में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद सिखों का कत्ल-ए-आम किया गया और वही कांग्रेस आज असहिष्णुता पर भाषण दे रही है।”

Also Read:   ‘जनता के सामने’ लाएंगे 1.25 लाख करोड़ रुपये के विशेष पैकेज का सच : नीतीश कुमार

इस संक्षिप्त टिप्पणी के बाद उन्होंने महागठबंधन के नेताओं के एक मंच पर न आने पर तंज कसते हुए कहा कि जब ये नेता चुनाव के पूर्व एक साथ एक मंच पर नहीं आ रहे हैं, तो ये बिहार का विकास क्या करेंगे?

मोदी ने महागठबंधन के सामने सवाल खड़ा करते हुए लालू प्रसाद से पूछा, “मैं लालू जी से पूछना चाहता हूं कि उन्होंने नीतीश कुमार को समर्थन मुख्यमंत्री बनने के लिए दिया है लेकिन लालू जी, नीतीश बाबू और सोनिया बहन आप चुनाव हार रहे हैं। मैं लालू जी से पूछना चाहता हूं कि ऐसे में बिहार में विपक्ष का नेता कौन होगा, उनका बेटा तेजस्वी या नीतीश कुमार? बिहार की जनता यह जानना चाहती है कि उनका विपक्ष का नेता कौन होगा?”

आरक्षण की चर्चा करते हुए मोदी ने कहा, “वर्ष 2005 में यही लोग आरक्षण पर विचार की बात कर रहे थे। ये बताएं कि किसका आरक्षण कम करना चाहते थे।”

Also Read:  कोहरे की चादर में लिपटी दिल्ली, 18 फ्लाइट-50 ट्रेनें लेट
Congress advt 2

मोदी ने भ्रष्टाचार के मामले को लेकर नीतीश और लालू को घेरते हुए कहा, “नीतीश ने वादा किया था कि भ्रष्टाचार में कोई पकड़ा जाएगा तो उसका मकान जब्त करेंगे, उसमें स्कूल खोलेंगे। अभी कुछ दिन पहले उनके मंत्री कैमरे के सामने लाखों रुपये लेते पकड़े गए। पक्का भ्रष्टाचार है। क्या नीतीश बाबू ने उनका बंगला जब्त किया?”

उन्होंने कहा, “लालू प्रसाद को भ्रष्टाचार के मामले में अदालत ने दोषी पाया। नीतीश ने उनका बंगला जब्त किया क्या? अरे आप तो उसी मकान में उनसे गले मिलने गए।”

मोदी ने एक बार फिर नीतीश और लालू से हिसाब मांगते हुए कहा कि लोकतंत्र में चुनाव के समय जनता को हिसाब देना होता है।

उन्होंने कहा, “15 साल तक लालू ने और 10 साल तक नीतीश ने राज किया। 25 साल का समय कम नहीं होता। मेरी सरकार को 25 महीने भी नहीं हुए और ये मेरा हिसाब मांग रहे हैं। खुद 25 साल का हिसाब देने को तैयार नहीं हैं और दिन-रात मुझसे हिसाब मांगते हैं।”

Also Read:  दिल्ली हाईकोर्ट ने NDTV मामले में आयकर विभाग को लगाई लताड़, कार्रवाई को बताया अति उत्साहपूर्ण

मोदी ने बिजली की समस्या के लिए नीतीश पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि वर्ष 2010 के चुनाव में घर-घर बिजली देने का वादा किया था, लेकिन आज तक बिहार में बिजली की स्थिति में सुधार नहीं हुआ।

उन्होंने कहा कि आज रैली में माताओं और बहनों की भारी तादाद देखकर सभी को आश्चर्य हो रहा है, बिहार में ‘जंगलराज’ को लेकर माताओं और बहनों का गुस्सा सातवें आसमान पर है।

रैली में जुटी भीड़ से उत्साहित मोदी ने कहा कि अब यह मैदान भी छोटा पड़ गया। उन्होंने माताओं और बहनों का हर सपना पूरा करने का वादा भी किया।

मोदी ने राजग की जीत का दावा करते हुए कहा, “नीतीश और लालू, आपको जितना खेल खेलना है खेलो। आठ नवंबर को लोग चारों तरफ दिवाली मनाएंगे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here