शौच के समय वीडियो बनाए जाने का विरोध करने पर बिहार में महिला का गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट्स में पिस्तौल और लकड़ी तक डाली

0

महिलाओं की सुरक्षा बिहार में कितना बड़ा मुद्दा है, इस बात का अंदाजा मोतिहारी में होने वाली बर्बर घटना से लगाया जा सकता है।

मोतिहारी जिले की एक महिला के साथ जो हुआ वो इंसानियत को एक मर्तबा फिर शर्मसार करता है। ये बिहार की नयी सरकार के अंदर काम करने वाली पुलिस पर भी बड़ा प्रश्न खड़ा करता है। उस पुलिस पर जिससे अब अपराधी नहीं डरते।

मोतिहारी की इस महिला का क़सूर बस इतना था की उसने गाँव के गुंडों को शौच के समय अपना वीडियो बनाये जाने से मना  किया और बाद में इसकी शिकायत अपनी मां को कर दी ।

Also Read:  MP: मंदसौर में किसान रैली के दौरान पुलिस ने योगेंद्र यादव और मेधा पाटेकर को हिरासत में लिया

gangrape-759

उसका ये ‘गुनाह’ उस केलिए इतना मंहगा पड़ेगा इसका शायद इस पीड़िता को अंदाजा भी नहीं रहा होगा।

एजेंसी के हवाले से जनसत्ता में छपी एक खबर के अनुसार, पीड़िता जब शौच करने खेत में जा रही थी तभी आरोपी शमीउल्लाह ने उसके साथ दुर्व्यवहार किया और उसका वीडियो बना लिया।

पीड़िता ने जब इस बात की जानकारी अपनी मां को दी तो मां ने आरोपी के घर जाकर इस बात पर विरोध जताया। लेकिन आरोपी के परिवार ने पीड़िता की मां को अपमानित करके वहां से भगा दिया।

Also Read:  मध्‍यप्रदेश: जब कंधे पर आलू की बोरी लेकर विधानसभा पहुंचे विधायक

आरोप है कि इसके बाद आरोपी अपने घर के चार सदस्यों अलिउल्लाह, जविउल्लाह, समरुउल्लाह और खलिउल्लाह के साथ मिलकर पीड़िता के घर पहुंचा।

उसे घर से बाहर निकाला और उसके साथ गैंगरेप किया। रेप के दौरान आरोपियों ने पीड़िता के प्राइवेट पार्ट्स में देसी कट्टे और लकड़ी को भी डालने की कोशिश की जिसके बाद लड़की बेहोश हो गई। इसके बाद आरोपी लड़की को बिना कपड़ों के मरा हुआ जानकर वहीं छोड़कर चले गए। इसके कुछ समय बाद होश में आने पर लड़की ने वहां से गुजर रही पुलिस के गश्ती दल से मदद मांगी जिन्होंने उसे हॉस्पिटल भर्ती कराया जहां से उसे मोतीहारी सदर हॉस्पिटल भेज दिया गया। पीड़िता अभी भी नाजुक हालत में है जबकि आरोपी फरार हैं।

Also Read:  'असभ्य' IAS अफसर को मुख्य सचिव मैनर्स सिखाएगेंः मुख्यमंत्री रमन सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here