बिहार टॉपर्स स्कैमः फोरेंसिक जांच का निष्कर्ष, रूबी राय की कॉपी में एक्सपर्ट ने लिखे थे उत्तर

0

फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला द्वारा तैयार एक रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि हुई है कि बिहार में इंटरमीडिएट की परीक्षा में कला विषय में अव्वल आने वालीं रूबी राय की उत्तरपुस्तिका पर विशेषज्ञों ने उत्तर लिखे थे. रूबी उस समय खबरों में आई थी जब उसने परीक्षा परिणाम के बाद सवालों के जवाब में राजनीतिक विज्ञान (पॉलिटिकल साइंस) को ‘प्रोडिकल साइंस’ कहा था और कहा था कि इस विषय में खाना बनाना सिखाया जाता है।

भाषा की खबर के अनुसार, पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनु महाराज ने आज कहा कि फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला की रिपोर्ट के अनुसार रूबी की उत्तरपुस्तिका पर लिखाई उसके हाथ की नहीं थी बल्कि विशेषज्ञों की थी जिन्होंने उसके लिए परीक्षा की उत्तरपुस्तिका पर लिखा था. एसएसपी ने कहा कि उत्तरपुस्तिकाओं के अध्ययन से यह बात भी सामने आई है कि उसकी कॉपियों पर अंकित अंकों के साथ कई बार छेड़छाड़ की गई।

हाजीपुर में बिष्णुदेव राय कॉलेज की रूबी राय जून महीने में उस समय सुखिर्यों में आई थी जब प्रदेश में अव्वल आने के बाद पूछे गए सवालों पर उसने राजनीतिक विज्ञान को ‘प्रोडिकल साइंस’ कहा था।

उसके जवाबों के बाद के घटनाक्रम में बिहार स्कूल परीक्षा बोर्ड (बीएसईबी) में चलने वाले एक रैकेट का पर्दाफाश हुआ था. राज्य सरकार ने इस मामले में जांच के लिए मनु महाराज के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया था. कुछ परीक्षार्थियों की उत्तरपुस्तिकाओं को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया था।

बारहवीं की परीक्षा में कला संकाय में रूबी और विज्ञान में सौरभ कुमार ने प्रदेश में टॉप किया था. पुन: परीक्षा में उनका प्रदर्शन खराब होने के बाद दोनों के परीक्षा परिणामों को निरस्त कर दिया गया था।

इस रैकेट में शामिल होने के मामले में बीएसईबी के तत्कालीन अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद सिंह, उनकी पत्नी और पूर्व जदयू विधायक उषा सिन्हा एवं बोर्ड के अन्य अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here