भंसाली पर हमले के बाद राम गोपाल वर्मा का पीएम मोदी पर निशाना, कहा इंडिया ‘बुरे दिनों’ की तरफ जा रहा है

1

संजय लीला भंसाली पर हुए हमले केे बाद पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए निर्देशक राम गोपाल वर्मा ने कहा कि इंडिया बुरे दिनों की तरफ जा रहा है। यहां उन्होंने पीएम मोदी को अच्छे दिनों की याद दिलाते हुए तंज किया और कहा मुझे नहीं पता कि आपके अच्छे दिन कब आएगें।

राम गोपाल वर्मा

शुक्रवार को  डायरेक्टर संजय लीला भंसाली के साथ जयपुर में शूटिंग के दौरान हाथापाई और मारपीट हुई थी। इस फिल्म का विरोध कर रहे कुछ राजपूत समूहों की भीड़ ने कथित तौर पर जयपुर के जयगढ़ किले में लगे फिल्म के सेट के बाहर प्रदर्शन करते हुए भंसाली को थप्पड़ जड़ दिया था  और उनके साथ मारपीट और अभद्रता की थी।

भंसाली पर हुए हमले के बाद राम गोपाल वर्मा ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया और कहा कि मुझे नहीं पता आपके अच्छे दिन कब आएगें। लेकिन भंसाली की घटना मुझे ये अहसास कराती है कि इंडिया बुरे दिनों की तरफ जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, करणी सेना का कहना है कि उन्हें अलाउद्दीन खिलजी और रानी पद्मावती के बीच कथित रूप से फिल्माए जा रहे लव सीन पर आपत्ति है। फिल्म में शाहिद कपूर, रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण प्रमुख भूमिकाओं में हैं। दीपिका चित्तौड़ की रानी पद्मावती की भूमिका निभा रही हैं।

हंगामा करने वाले संगठन करणी सेना का दावा है कि संजय लीला भंसाली ने अपनी फिल्म पद्मावती में अलाउद्दीन खिलजी और रानी पद्मावती के बीच एक बेहद आपत्तिजनक सीन डाला है।

संजय लीला भंसाली पर ‘पदमावती’ फिल्म की शूटिंग के दौरान जयपुर में राजपूत संगठन करणी सेना के कार्यकर्ताओं द्वारा हमले की समूचे बाॅलीवुड ने कड़ी निंदा निंदा की है। छोटे से बड़े स्तर के सभी फिल्म कलाकार, मेकर, निर्देशक, संगीतकार, गायक, अभिनेता, अभिनेत्री, टेक्टिशियन आदी भंसाली के समर्थन में उतर आए है और मांग कर रहे है कि आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए।

संजय लीला भंसाली

जबकि संजय लीला भंसाली पर इतिहास को लेकर छेड़छाड़ के आरोप में हमला करने वाले 5 लोगों को जयपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसके अलावा जयपुर डीसीपी नोर्थ अंशुमान भौमिया ने मीडिया को जानकारी देते हुए अवगत कराया कि इस हमले में मुख्य भुमिका निभाने वाले करणी सेना से जुड़े हुए 20 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

1 COMMENT

  1. घिनौने पूंजीपतियों, उनके चाकरों और उनके पालतू गुंडों के असली रूप! वर्तमान पहले से चले आ रहे बुर्जुआ प्रजातंत्र का ही बढ़ा चढ़ा रूप है और ज्यादा ही विकराल रूप लेगा जब बढ़ते शोषण का विरोध जनता करेगी!
    फिर भी एकता और संघर्श जरी रहेगा और विजय हमारी होगी! मजदुर, किसान, जवान एकता जिंदाबाद!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here