पश्चिम बंगाल: मदरसा टीचर का दावा, ‘जय श्री राम’ का नारा नहीं लगाने पर लोगों ने पीटा और चलती ट्रेन से दिया धक्का

0

पश्चिम बंगाल में मदरसे में पढ़ाने वाले 26 साल के एक शिक्षक ने सोमवार को दावा किया कि ‘जय श्री राम’ नहीं कहने पर एक समूह के लोगों ने उसके साथ मारपीट की और उसे चलती ट्रेन से धक्का देकर ट्रेन से उसे बाहर कर दिया। पीड़ित के मुताबिक, यह घटना गुरुवार (20 जून) की दोपहर उस वक्त हुई जब वह साउथ 24 परगना जिले से हुगली जा रहे थे।

जय श्री राम
File Photo: Indian Express

पीड़ित की पहचान हाफिज मोहम्मद शाहरुख हलदर के रूप में हुई है। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक पीड़ित शाहरुख हलदर ने कहा, ‘पीड़ित शाहरुख हलदर ने कहा, उस दौरान कोच में मौजूद एक ग्रुप ‘जय श्री राम’ के नारे लगा रहा था। उन्होंने मुझसे भी नारे लगाने के लिए कहा। जब मैंने इससे इनकार किया तो उन्होंने मेरे साथ मारपीट करना शुरू कर दिया। इस दौरान कोई भी मुझे बचाने के लिए आगे नहीं आया। यह पूरी घटना उस समय हुई जब ट्रेन धकुरिया और पार्क सर्कस स्टेशन के बीच थी। उन्होंने मुझे पार्क सर्कस स्टेशन पर ट्रेन से बाहर फेंक दिया, इसके बाद कुछ स्थानीय लोगों ने मेरी मदद की।’

रेलवे पुलिस के एक अधिकारियों ने कहा, ‘पीड़ित को मामूली चोटें आईं हैं, जिसके बाद उसे चितरंजन अस्पताल ले जाया गया जहां शाहरुख को उचित उपचार दिया गया। ऐसा लगता है कि यात्रा के दौरान ट्रेन में उतरने-चढ़ने को लेकर उसके साथ मारपीट हुई। शाहरुख के अलावा वहां दो से तीन लोग और भी थे जिनको मामूली रूप से चोटें आई थीं। इस मामले के जांच की जा रही है। फिलहाल किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है।’

हलदर के मुताबिक, यह घटना ट्रेन नंबर 34531 में हुई, जो कैनिंग से स्यालदाह जाती है। हलदर साउथ 24 परगना जिले के बासंती का रहने वाला है। उसने बताया कि वे इस मामले की शिकायत करने के लिए सबसे पहले तोपसिया थाने गए, लेकिन उनको कहा गया कि चूंकि यह घटना ट्रेन के अन्दर हुई, इसलिए इस मामले में रिपोर्ट करने के लिए सरकारी रेलवे पुलिस (जीआरपी) के पास जाना होगा।

वहीं रेलवे पुलिस के अनुसार, बल्लीगंज रेलवे स्टेशन पर अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 341, 323, 325, 506 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया था। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने जब इस बारे में कोलकाता के पुलिस अधिकारीयों से संपर्क किया तो उन्होंने कहा कि वे इस घटना की पुष्टि कर रहे हैं। रेलवे पुलिस अधिकारियों ने कहा कि वे पहचान होने के बाद बदमाशों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे।

बता दें कि, अभी हाल ही में झारखंड के सरायकेला जिले के धातकीडीह गांव में बाइक चुराने के आरोप में तबरेज अंसारी  (22) की भीड़ ने बेरहमी से पिटाई की थी। रविवार को अस्पताल में पीड़ित ने दम तोड़ दिया। पुलिस के अनुसार, उसके पास से चोरी हुई बाइक के अलावा कई और चीजें मिली हैं। हालांकि, इस मामले में एक वीडियो वायरल होने के बाद यह घटना सामने आई, जिसमें मंडल पेड़ से बंधे अंसारी को पीटते हुए नजर आ रहा था। साथ ही वीडियो में तबरेज से जबरन जय श्रीराम कहलवाने की कोशिश की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here