कश्मीर कवरेज पर बीबीसी ने जारी किया आधिकारिक बयान

0

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद कश्मीर पर दुनियाभर की नजरें हैं और दुनियाभर की मीडिया इस मामले को कवर भी कर रहा है। 370 हटाए जाने के बाद से जहां एक तरफ मोदी सरकार की जमकर तारीफ हो रही है वहीं सोशल मीडिया पर इसे लेकर कुछ जगहों पर विरोध भी चल रहा है। इसी बीच, बीबीसी हिंदी ने कश्मीर का एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें बताया गया कि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के खिलाफ बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतरे और सुरक्षाबलों से उनकी झड़प भी हुई। लोग बीबीसी की इस रिपोर्टिंग पर सवाल उठा रहे हैं।

बीबीसी

वहीं, अब बीबीसी ने अपनी रिपोर्टिंग पर संदेह करने के बाद रविवार को सार्वजनिक रूप से एक बयान किया है। अपने बयान में BBC ने कहा, “बीबीसी अपनी पत्रकारिता के साथ खड़ा है और हम कश्मीर में गलत घटनाओं को प्रस्तुत करने वाले किसी भी दावे का दृढ़ता से खंडन करते हैं। हम निष्पक्ष और सही तरीके से स्थिति को कवर कर रहे हैं। अन्य प्रसारकों की तरह, हम वर्तमान में कश्मीर में गंभीर प्रतिबंधों के तहत काम कर रहे हैं, लेकिन हम रिपोर्ट करना जारी रखेंगे कि क्या हो रहा है। ”

बीबीसी ने अपनी उर्दू ट्विटर हैंडल से उर्दू में भी वही बयान जारी किया, जो मुख्य रूप से पाकिस्तान और जम्मू-कश्मीर में प्रसारित होता है।

गौरतलब है कि, बीबीसी ने शनिवार को एक वीडियो रिपोर्ट दिखाई थी। इसमें दिखाया गया था कि अनुच्छेद 370 के हटाए जाने के बाद श्रीनगर में शुक्रवार को बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुआ। इस प्रदर्शन पर काबू पाने के लिए सुरक्षाबलों को बल प्रयोग करना पड़ा। हालांकि, सोशल मीडिया पर लोग इस वीडियो को लेकर काफी सवाल उठा रहें है। वहीं सरकार का कहना है कि कश्मीर में इक्का-दुक्का प्रदर्शन के अलावा कोई बड़ा प्रदर्शन नहीं हुआ।

बीबीसी हिंदी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो भी शेयर किया है जिसमें संवाददाता आमिर पीरजादा बता रहें है कि, ‘कश्मीर में जुमे की नमाज के बाद हालात ज्यादातर सामान्य ही रहे, बस कुछ जगहों पर प्रदर्शन की घटनाएं सामने आईं।’पीरजादा ने कहा कि शुक्रवार की नमाज के बाद हालांकि कश्मीर के सौरा में बड़ा प्रदर्शन हुआ। बता दें कि इस प्रदर्शन का वीडियो भी शेयर किया गया है जिसमें बड़ी संख्या में लोग एक शख्स कहने पर ‘हम क्या चाहते…आजादी…’ का नारा लगा रहे हैं।

आमिर पीरजादा के मुताबिक, ‘हजारों की तादाद में प्रदर्शनकारी अपने घरों से बाहर सड़कों पर निकल आए। घटनास्थल पर मौजूद एक शख्स ने बताया कि वह शांतिपूर्वक प्रदर्शन था। हालांकि जब प्रदर्शनकारी सुरक्षाबलों के सामने आए तो दोनों पक्षों की बीच झड़प हुईं। जिसके जवाब में आंसू गोले और पेलेट गन चलाई गईं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here