उत्तर प्रदेश: काम के दबाव से दुखी बैंक मैनेजर ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखी ये बात

0

उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में भारतीय स्टेट बैंक की छाता शाखा के मैनेजर ने शुक्रवार को फांसी लगाकर जान दे दी। उनकी शिक्षिका पत्नी जब घर पहुंची तो मैनेजर का शव फ्लैट में पंखे से लटका मिला। पुलिस ने मौके से दो लाइन का एक सुसाइड नोट बरामद किया है, जिस पर लिखा है कि वह बैंक में काम का दबाव महसूस कर रहे हैं। उधर, मृतक के पिता का आरोप है कि बैंक के अधिकारी उनके बेटे को परेशान कर रहे थे।

मैनेजर
प्रतीकात्मक तस्वीर

पुलिस के अनुसार, हाईवे थाना क्षेत्र की राधावैली कालोनी में दिव्या ‘डी’ अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 201 में राकेश खदेरिया (37) पुत्र गोपाल चंद अपनी पत्नी और छह साल की बेटी के साथ रहते थे। राकेश एसबीआई की छाता ब्रांच में मैनेजर के पद पर तैनात थे। उनकी पत्नी सीमा प्राथमिक विद्यालय नगला प्रांसु (कोसीखुर्द) में शिक्षिका हैं।

सीमा रोज की तरह अपनी छह साल की बेटी को लेकर स्कूल चली गईं थीं। राकेश खदेरिया शुक्रवार को बैंक नहीं गए थे। राकेश मूल रूप से राजस्थान के रहने वाले थे, लेकिन पिछले कई साल से मथुरा में ही रह रहे थे।

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक प्रभारी निरीक्षक अनूप सरोज ने बताया, शव के पास में ही एक कागज पर दो लाइन का सुसाइड नोट लिखा मिला। इस मामले में राकेश के पिता गोपाल चंद का कहना है, बैंक के अधिकारी उनके बेटे को परेशान कर रहे थे। वह आगरा जाकर क्षेत्रीय बैंक अधिकारियों से मिले भी थे। काफी विनती की लेकिन वह लगातार राकेश को परेशान करते रहे। सम्भव है कि उसने इसी प्रकार के दबाव के चलते खुदकुशी कर ली हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here