कठुआ गैंगरेप-हत्या मामला: मैनेजर ने फेसबुक पर लिखा, ‘अच्छा हुआ मर गई’, बैंक ने नौकरी से निकाला

0

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में नाबालिग मासूम बच्ची के साथ हुए गैंगरेप और उसकी हत्या का मामला भारत सहित पूरे विश्व में उबाल है। स्थानीय लोगों के विरोध और मासूम के साथ गैंगरेप और हत्या के आरोपियों के बचाव में निकली रैली के बाद से देश भर के लोगों में काफी गुस्सा है। इस बीच, कुछ ऐसे लोग भी हैं जो इस घटना पर भी अपमानजक कमेंटबाजी से बाज नहीं आ रहे हैं।

Photo: Twitter

दरअसल, कोटक महिंद्रा बैंक के एक कर्मचारी ने कठुआ जिले में नाबालिग मासूम बच्ची के साथ हुए गैंगरेप और उसकी हत्या मामले पर विवादित टिप्पणी की, जिसके बाद बैंक ने उसे नौकरी से बर्खास्त कर दिया।

कोटक महिंद्रा बैंक के कोच्चि स्थित पलरिवत्तम शाखा में असिस्टेंड मैनेजर के तौर पर कार्यरत विष्णु ने सोशल मीडिया पर लिखा कि, ‘अच्छा हुआ कि वह इस उम्र में ही मर गई, नहीं तो बड़ी होकर भारत के खिलाफ सुसाइड बम बनकर सामने आती।’

विष्णु का यह पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद बैंक ने उसे नौकरी से निकाल दिया। बता दें कि, उसने यह पोस्ट मलयालम भाषा में किया था। नंद कुमार के इस पोस्ट के बाद सोशल मीडिया पर लोग इसकी कड़ी निंदा कर रहें है।

लोगों की नाराजगी को देखते हुए बैंक ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि, ‘हमने विष्णु नंद कुमार को उसकी खराब परफॉर्मेंस के चलते 11 अप्रैल 2018 को सेवा से बर्खास्त कर दिया है। ऐसी त्रासदी के बाद ऐसी टिप्पणी बेहद दुखद है, हम इस बयान की कड़ी निंदा करते हैं।’

जम्मू-कश्मीर के कठुआ और उत्तर प्रदेश के उन्नाव में बलात्कार की घटनाओं के संदर्भ में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार(13 अप्रैल) को अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा था कि ऐसी घटनाएं निश्चित तौर पर सभ्य समाज के लिए शर्मनाक है और इन मामलों में कोई भी अपराधी नहीं बचेगा, न्याय होकर रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here