चार गेंदों में 92 रन देने वाले गेंदबाज पर लगा 10 साल का प्रतिबंध

0

पिछले महीने बांग्लादेश के दो घरेलू मैचों में बांग्लादेश क्रिकेट की छवि को खराब करने के आरोप में बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) ने दो क्लबों पर कड़ी कार्रवाई की है। मंगलवार(2 मई) को बीसीबी ने चार गेंदों पर 92 रन देने वाले गेंदबाज के अलावा टीम के खिलाड़ियों, कप्तान, मैनेजर और अंपायरों को भी प्रतिबंधित कर दिया।

फोटो: साभार

बोर्ड ने ढाका की सेकेंड डिवीजन लीग मैच में गेंदबाज सुजोन महमूद के चार गेंदों में 92 रन देने के कारनामे की जांच के लिए विशेष समिति का गठन किया था। सुजोन ने लालमाटिया क्लब से खेलते हुए एक्सियोम क्लब के खिलाफ पक्षपातपूर्ण अंपायरिंग से नाराज होकर ऐसा किया था।

Also Read:  मुसलमानों ने बंगाल में हिंदू व्यक्ति के कैंसर का इलाज कराने के लिए मोहर्रम का जुलूस छोड़ा

समिति ने जांच में पाया कि फियर फाइटर्स स्पोर्टिग क्लब के खिलाड़ी तस्नीम हसन ने भी इंदिरा रोड क्रइरा चाकरा क्लब के खिलाफ खराब अंपायरिंग के विरोध में 1.1 ओवर में 69 रन दिए थे। यह मैच लालमाटिया क्लब और एक्सियोम क्लब के मैच से एक दिन पहले खेला गया था। तस्नीम और सुजोन को 10 साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है।

साथ ही इन दोनों के क्लबों को भी ढाका लीग की किसी भी डिवीजन में खेलने से रोक दिया गया है। दोनों टीमों के कप्तान, मैनेजर और कोच पर पांच साल का प्रतिबंध लगाया गया है। इसके अलावा दोनों विवादित मैचों में अंपायरिंग करने वाले शम्सुर रहमान और अजिुजल बारी को भी बख्शा नहीं गया। मैच संभालाने में असफलता के कारण दोनों पर छह महीने का प्रतिबंध लगाया गया है।

Also Read:  जानिए क्यों मुस्लिम धर्मगुरू ने की धार्मिक मुद्दों पर टीवी डिबेट के बहिष्कार की अपील

इस मामले में समिति के तीन निर्देशकों में से एक शेख सोहेल ने कहा है कि समिति ने उन सभी लोगों से बात की है जो मैच में शामिल थे। उन्होंने कहा कि सुजोन और तस्नीम ने वही किया जो टीम प्रबंधन ने उनसे करने को कहा है। उन्होंने कहा कि इन लोगों ने जानबूझकर बांग्लादेश क्रिकेट की छवि को खराब किया है।

Also Read:  नोटबंदी ने निकाले एक दादा के आंसू, पोती की शादी में पड़ौसियों से मांगना पड़ा उधार

सोहेल ने कहा कि यह पूरे विश्व में हमारी छवि को खराब करने के लिए उठाया गया कदम था। पहले दिन से मैं कह रहा हूं कि हम यह बर्दाश्त नहीं करेंगे, यह अपराध है। उन्होंने कहा कि गेंदबाज बिना टीम प्रबंधन की इजाजत के ऐसा नहीं कर सकता। हालांकि उन्होंने कहा कि इसमें कोई मैच फिक्सिंग नहीं हुई और न ही उन्हें इसके लिए कोई पैसा मिला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here