मध्यप्रदेश में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी, पुलिस थाने में हंगामा कर छुड़ा ले गए अपने नेता को

0
>

देश में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं की दंबगई किस हद तक है इसका अंदाजा आप इसी ख़बर से लगा सकते है। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में बजरंल दल के स्थानीय नेता और उनके कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी देखने को मिली है, जिसके सामने पुलिस भी बेबस बनी रही।

बजरंग दल
फाइल फोटो- NDTV (कमलेश ठाकुर)

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, शुक्रवार(14 जुलाई) की रात बजरंग दल के एक नेता और कुछ कार्यकर्ताओं ने शराब पीकर पुलिस से मारपीट के आरोप में पकड़े गए बजरंग दल के नेता कमलेश ठाकुर को छुड़ाने के लिए समर्थकों ने पुलिस थाने में हंगामा कर दिया और जब पुलिस प्रदर्शनकारियों को रोकने चाहा तो उन्होंने सड़क पर चक्काजाम करने की कोशिश की। पुलिस की मौजूदगी में प्रदर्शनकारी आरोपी को ना सिर्फ छुड़ा कर ले गये, बल्कि खाकी को मुंह चिढ़ाते हुए उसे कंधे पर बिठाकर घुमाने लगे।

Also Read:  ईडी ने शाहरुख खान को फिर भेजा नोटिस, 23 जुलाई को पेश होने का दिया आदेश

ख़बर के मुताबिक, पुलिस का कहना है कि बजरंग दल का प्रांतीय संयोजक कमलेश ठाकुर नशे में धुत, भोपाल के 10 नंबर मार्केट में शराब पी रहा था, देर रात पुलिस ने इस पर ऐतराज जताया तो उसने पुलिसकर्मियों के साथ गाली गलौच शुरू कर दी। पुलिसकर्मियों ने उसे रोकने की कोशिश की तो उसने एक पुलिसकर्मी का कॉलर पकड़ लिया, जब पुलिस उसे अपने साथ हबीबगंज थाने लाई तो बजरंग दल के कार्यकर्ता भी वहां जुट गये और हंगामा करने लगे।

करीब 40-50 की तादाद में आए बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के सामने पुलिस बेबस खड़ी रही, और कार्यकर्ता अपने नेता को कंधे पर बिठाकर चलते बने। वहीं दूसरी और नेता ने खुद को बेकसूर बताया और आरोप लगाने वाले को ही सामने लाने की बात कही। बजरंग दल के हंगामे को देखते हुए पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी हबीबगंज थाने पहुंच गए।

Also Read:  गोविंद पानसरे की हत्या के मामले में कर्नाटक के दो संदिग्ध हिरासत में

मौके पर पहुंचे सीएसपी सीएम द्विवेदी ने पहले कहा थोड़ी गफलत हुई है, इसे देख रहे हैं अगर उनकी कोई आपराधिक भूमिका होगी तो मामला दर्ज किया जाएगा। देर रात आरोपी के खिलाफ सरकारी काम में रूकावट डालने, गाली गलौच और मारपीट करने का मामला दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है।

बता दें कि, यह कोई पहली बार नहीं है कि बजरंग दल के कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी सामने आई हो। इससे पहले भी मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने स्कूल शिक्षिकाओं से दुव्र्यवहार का आरोप लगाते हुए टोल नाके के कर्मचारियों के साथ कथित तौर पर मारपीट और तोड़ फोड़ की थी।

Also Read:  श्रीनगर एयरपोर्ट पर दो ग्रेनेड के साथ भारतीय सेना का एक जवान गिरफ्तार

इसके अलावा भोपाल में बुधवार(5 मार्च) को ईसाई मिशनरी द्वारा संचालित कैंपियन स्कूल में राम नवमी के अवसर पर छुट्टी नहीं होने से नाराज हिंदूवादी संगठन बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया था और साथ ही कथित तौर पर कार्यकर्ताओं ने बीच में ही चलते स्कूल को जबरन बंद करवाया था। इतना ही नहीं बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने जबरन स्कूल मैनेजमेंट से लिखित रूप में माफी भी मंगवाई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here