गुजरात: लव-जिहाद रोकने के लिए बजरंग दल की नई मुहिम, गरबा में आने वाले गैर हिंदुओं पर होगा गौमूत्र का छिड़काव

0

गुजरात के गांधीनगर में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने गरबा में भाग लेने वाले गैर हिंदुओं पर गौमूत्र छिड़ककर उन्हें “पवित्र” करने का एक नया अभियान शुरू किया है। ये सारी मुहिम गैर हिंदुओं को गरबा आयोजनों से दूर रखने की है।

कपड़ों पर दाग पड़ने से रोकने के लिए गौमूत्र के साथ गंगाजल का मिश्रण किया गया था, लेकिन लोगों की नाराजगी छिपी नहीं रही। कुछ लोगों ने तो इसका विरोध नहीं किया लेकिन आईटी विशेषज्ञ देवदत्त सिंह रावल जैसे कई लोगों ने न केवल इसका विरोध किया बल्कि पुलिस भी बुला ली।

Also Read:  पद्मावती विवाद: करणी सेना ने तोड़े मशहूर चितौड़गढ़ किले के आईने

उनकी पत्नी जानकी बा बताती हैं- “बजरंग दल वालों ने हमें बाहर निकाल फेंकने की धमकी भी दी। हमारे पास पास था तो वे हमें रोकने वाले कौन होते हैं? कई लोग डर के मारे चुप रहे लेकिन मुझे किसी को साबित करने की ज़रूरत नहीं कि मैं हिंदू हूँ।”

Photo courtesy: ahemdabad mirror

Photo courtesy: ahemdabad mirror

उस समारोह में आमंत्रित सामाजिक न्याय मंत्री केशाजी चौहान का भी स्वागत बजरंद दल वालों ने गौमूत्र छिड़ककर ही किया। बजरंग दल की गांधीनगर इकाई के जिलाध्यक्ष अमित उपाध्याय का कहना है- हम तो चार साल से ये काम कर रहे हैं। लव-जिहाद रोकने के लिए ये तरीका हमने अपनाया है। पहले हम लोग तिलक लगाते थे लेकिन बाद में लगा कि गैर हिंदुओं को दूर रखने के लिए गौमूत्र ज्यादा कारगर है। उपाध्याय के साथ करीब 300 युवाओं की टीम है जो होली और नवरात्रि पर भी “संस्कृति रक्षा” का काम करती है।

Also Read:  UP: कब्रिस्तान का पेड़ काटने का विरोध करने पर BJP नेता ने फाड़ी धार्मिक पुस्तक, हत्या व लूट का केस दर्ज

सबरंग की खबर के अनुसार, मित उपाध्याय कहते हैं- “हमें पुलिस की परमीशन की ज़रूरत नहीं है। हम अपने धर्म की सेवा कर रहे हैं। जो लोग गौमूत्र छिड़कवाने से इन्कार करेंगे, उन्हें हम बाहर निकाल देंगे।”

Also Read:  Yasin Malik wants Hizbul terror outfit chief to probe Sopore attacks

जबरन गौमूत्र छिड़कने के बारे में गांधीनगर के डीएसपी विजय पटेल का कहना है- “हमें ऐसी किसी घटना की जानकारी नहीं है। अगर कोई शिकायत हमें मिली तो हम उस पर जरूरी कार्रवाई करेंगे।”

थंगानट गरबा के आयोजक रोहित नायानी किसी विवाद में पड़ने से बचना चाहते हैं। वे कहते हैं, “बजरंग दल वाले पिछले तीन साल से यहाँ आ रहे हैं, लेकिन अब तक उनकी कोई शिकायत नहीं मिली है।”

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here