“अपने मोबाइल से चाइनीस एप्लीकेशन को डिलीट करना भी राष्ट्रसेवा है”, अपने इस ट्वीट पर जमकर ट्रोल हुए बाबा रामदेव

0

भारत और चीन के बीच चल रही तनातनी के बीच पतंजलि आयुर्वेद कंपनी के संस्थापक और योग गुरु बाबा रामदेव ने ट्वीट कर बॉयकॉट चाइनीज प्रोडक्ट्स का समर्थन किया है। हालांकि, अपने ट्वीट को लेकर बाबा रामदेव सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए लोग जमकर उन्हें ट्रोल कर रहे हैं।

बाबा रामदेव

बता दें कि, तेजी से फैल रहे घातक कोरोना वायरस को रोकने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने एक संबोधन में लोगों से स्वदेशी उत्पादों का उपयोग करने की अपील की थी। पीएम मोदी के इस संबोधन के बाद से ही भारत में सोशल मीडिया पर चीनी समान के बहिष्कार को लेकर बॉयकॉट चाइनीज प्रोडक्ट्स हैशटैग के साथ कुछ लोग ट्वीट करने लग गए। वहीं, सोशल मीडिया पर चीनी समान के बहिष्कार को लेकर बॉयकॉट चाइनीज प्रोडक्ट्स भी पिछले कुछ दिनों से ट्रेंड कर रहा है।

इस बीच, बाबा रामदेव ने भी ट्वीट कर बॉयकॉट चाइनीज प्रोडक्ट्स का समर्थन किया। इसके लिए रामदेव ने एक नहीं बल्कि तीन ट्वीट किए हैं। पहले ट्वीट में उन्होंने लिखा, “हमें चीन या चीन के लोगों से कोई दुश्मनी नहीं है लेकिन हमारे देश के खिलाफ उनके द्वारा किए जाने वाले षड्यंत्र को रोकने के लिए उनके उत्पादों का बहिष्कार करना जरूरी है।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, “देश केलिए लड़ना सिर्फ सीमा पर खड़े सैनिकों का ही फर्ज नहीं है, हमारा भी धर्म है चीन में बनें किसीभी वस्तु प्रयोग न करना, दूसरों कोभी करने से रोकना हमारा राष्ट्रधर्म है, क्योंकि चीन हमारे द्वारा कमाए गए पैसोंसे हमारे ही देश के खिलाफ साजिश रचता है।”

अपने तीसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, “अपने मोबाइल से चाइनीस एप्लिकेशन को डिलीट करना भी राष्ट्रसेवा है।” अपने इस ट्वीट के साथ उन्होंने 33 सेकेंड का एक वीडियो भी साझा किया गया है। इस वीडियो में Tiktok Lite, Shareit और VidMate जैसे एप्स को फोन से अनइंस्टॉल करते हुए दर्शाया गया है। इन एप्स को अनइंस्टॉल करने के साथ ही Google Play Store से Flipkart, Sharechat को फोन में इंस्टॉल करते हुए दिखाया गया है।

बाबा रामदेव के इन ट्वीट पर कई सोशल मीडिया यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रियाएं भी दी। कई लोगों ने बाबा रामदेव का समर्थन किया तो वहीं कुछ लोगों ने उन्हें ट्रोल करते हुए कई ट्वीट किए हैं।

 

एक यूजर ने लिखा, “सभी फोनों की बैटरी चीन वाले बनाते हैं कहीं बैटरी मत निकाल देना अब।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “बाबा ऐप डिलीट की क्या जरूरत है सीधा मोबाइल ही फेंक डालो, ये भी चाइनीज है।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “पतंजलि के प्रॉडक्ट्स का #Boycott कर डाबर, हिंदुस्तान यूनिलीवर, हमदर्द व हिमालय के प्रॉडक्ट खरीदना देशभक्ति है। चाइना से accessories इम्पोर्ट करके देसी ठप्पा लगाना कोई बाबा रामदेव जैसे बहरूपियों से सीखे।”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “इतने दिन तक चाइनीज़ एप्प रख कर क्या रहा था बे? लाले देषदोही।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “अगर Mbile से चीनी ऐप डिलीट कर राष्ट्रसेवा है तो देश का चंदन चोरी से चीन को बेचना पटेल की मूर्ति बनवाना और तो और देश में चीनी बैंक खुलवाना गद्दारी से भी बड़ी गद्दारी है लाला जी !” बता दें कि, इसी तरह तमाम यूजर्स उनके इन ट्वीट पर जमकर अपनी प्रतुक्रियाएं दे रहा हैं।

देखें कुछ ऐसे ही ट्वीट

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here