पहले श्री श्री रविशंकर द्वारा सेना का दुरूपयोग, और अब रामदेव के पतंजलि में CISF सुरक्षा पर विवाद

0

Art of Living के श्री श्री रविशंकर द्वारा कथित तौर पर सेना के जवानों के दुरूपयोग का विवाद थमा भी नहीं कि योग गुरु बाबा रामदेव के पतंजलि फ़ूड एंड हर्बल पार्क को अर्धसैनिक बल  की सुरक्षा प्रदान करने का विवाद सामने आ गया है।

CISF डायरेक्टर जनरल सुरिंदर सिंह ने बताया कि हरिद्वार स्थित रामदेव की पतंजलि फ़ूड एंड हर्बल पार्क के परिसर में CISF के 35 जवानों को तैनात किया गया है जिनका खर्च पतंजलि देगी।

Also Read:  पाक कलाकारों के बैन पर अभय देओल ने सरकार को सुनाई खरी-खरी, कहा- मैं मोदी सरकार को गंभीरता से नहीं लेता

लेकिन यह मामला इसलिए विवाद में आया है क्योंकि CISF की सुरक्षा प्राइवेट सेक्टर को किसी असमान्य स्थिति में ही प्रदान की जाती है।यहां तक कि 26/11 के मुंबई हमलों के बाद मुंबई के ताज होटल ने अर्धसैनिक बल की तैनाती को आगे बढ़ाने की मांग की गयी थी, लेकिन उनके इस मांग को ख़ारिज कर दिया गया था।

ताज होटल की मांग को खारिज़ करने की वजह बतायी गयी कि ताज होटल के पास इतनी क्षमता है कि होटल खुद अपनी सुरक्षा का बंदोबस्त कर सकता है।

Also Read:  Ahead of Modi’s UK visit, British intellectuals express concern on India’s religious intolerance

सूत्रों का कहना है कि 4 जून 2015 से पतंजलि में अंतरिम सुरक्षा कारणों से गृह मंत्रालय के आदेश पर अर्धसैनिक बल  के जवानों को भेजा गया था|

अधिकारियों का कहना है कि इतने कम वक़्त में CISF की तैनाती बहुत ही विशेष परिस्थिति में दी जाती है।

Also Read:  देखें वीडियोः लम्बें अंतराल के बाद सोनिया गांधी का मोदी सरकार पर हमला

जवानों की तैनाती पर एक महीने में कुल 21 लाख का खर्च है लेकिन यह खर्च में और भी बढ़ोतरी हो सकती है।

योग गुरु रामदेव ने पिछले लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का खुल कर समर्थन किया था और भाजपा के लिए पुरे देश भर में चुनाव प्रचार भी किया था ।

सत्ता में आने के बाद मोदी सरकार ने बाबा रामदेव को z सुरक्षा भी प्रदान की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here