VIDEO: क्या ये भारत के लिए सबक है? राजनीतिक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ऑस्ट्रेलियाई सेना के प्रमुखों ने बीच में छोड़ा देश के रक्षा मंत्री का साथ

0

ऑस्ट्रेलिया के रक्षामंत्री क्रिस्टोफर पायने को गुरुवार को उस वक्त लाइव प्रेस कॉन्फेंस के दौरान शर्मिंदा होना पड़ा, जब उनके देश के सशस्त्र बलों के प्रमुखों ने राजनीतिक प्रेस कॉन्फ्रेंस का हवाला देते हुए बीच में ही मंच छोड़ने का फैसला किया। दरअसल, रक्षा मंत्री क्रिस्टोफर पायने सैन्य नेतृत्व के बदलावों पर पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे, इस दौरान उन्होंने रक्षा मामलों पर पत्रकारों के सभी सवालों का जवाब दिया।

लेकिन इसी दौरान एक पत्रकार ने जब रक्षा मंत्री से एक राजनीतिक विषय पर टिप्पणी करने को कहा, तो फौरान वहां मौजूद ऑस्ट्रेलियाई रक्षा प्रमुख एंगस कैंपबेल ने अचानक प्रेस कॉन्फेंस के बीच में ही हस्तक्षेप किया और मंत्री को सलाह दी कि राजनीतिक महत्व के मामलों पर टिप्पणी करते समय वरिष्ठ सैन्य कर्मियों को उसी फ्रेम में देखा जाना उचित नहीं होगा।

एबीसी की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पायने के पीछे खड़े होने वालों में ऑस्ट्रेलियाई रक्षा बल के दूसरे कमांडर, वाइस एडमिरल डेविड जॉनसन, नव घोषित वायु सेना प्रमुख एयर मार्शल मेल हूपफेल्ड और संयुक्त संचालन के अगले प्रमुख मेजर जनरल ग्रेग बिल्टन शामिल थे।

वीडियो में दिख रहा है कि रक्षा प्रमुख कैंपबेल अपने बॉस के पास जाते हैं और उनसे कहते हैं कि सैन्य अधिकारियों को इस तरह के राजनीतिक सवालों का जवाब देते समय उसी फ्रेम में देखा जाना उचित नहीं होगा। इसके बाद खुद रक्षा मंत्री ने सेना के अधिकारियों को प्रेस कॉन्फेंस छोड़ने का आदेश दे देते हैं।

कुछ देर बाद सभी रक्षा प्रमुखों ने प्रेस कॉन्फेंस के उस मंच को छोड़ दिया और कैमरे से अचानक गायब हो गए, क्योंकि रक्षा मंत्री ने राजनीति पर टिप्पणी करना जारी रखा। भारत सहित दुनियाभर में सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो वायरल हो रहा है। लोगों का कहना है कि भारतीय सैन्य कमांडरों को भी इससे सबक सिखाना चाहिए, जिन्होंने कई मौकों पर खुशी-खुशी सरकार के मंत्रियों के साथ मंच साझा कर चुके हैं, जबकि सवाल राजनीतिक विवादों के इर्द-गिर्द घूमते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here