जम्मू-कश्मीर: शहीद औरंगजेब के पिता ने मोदी सरकार को दिया 72 घंटे का अल्टीमेटम, सामने आया जाबांज जवान का आखिरी वीडियो

0

जम्मू-कश्मीर में शहीद सेना के जवान औरंगजेब के घर पर गम का माहौल है। औरंगजेब की अपहरण और हत्या करने से पूरे परिवार में गम का माहौल पसरा हुआ है। लेकिन बेटे की शहादत के बाद भी उनके पिता हनीफ का जज्बा और देश के प्रति समर्पण का भाव कम नहीं हुआ है। उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को 72 घंटे का अल्टीमेटम देते हुए अनुरोध किया है कि वह आतंकियों को मारकर बेटे की शहादत का बदला ले वरना वह खुद बदला लेंगे। आपको बता दें कि गुरुवार को ईद की छुट्टी पर घर जा रहे राष्ट्रीय राइफल्स के जवान औरंगजेब की आतंकियों ने अपहरण कर हत्या कर दी थी।

औरंगजेब के पिता ने मोदी सरकार से बेटे के हत्यारे आतंकियों को मार गिराने की अपील करते हुए कहा है, ‘मैं मोदी सरकार को 72 घंटे का वक्त देता हूं। अगर उन्होंने मेरे बेटे के कातिलों को 72 घंटे के अंदर नहीं मारा, तो मैं खुद बदला लूंगा।’ उन्होंने कहा कि सोचा था बेटे और पूरे परिवार के साथ ईद मनाऊंगा, लेकिन जालिमों ने ऐसा होने नहीं दिया। खुद सेना में रह चुके हनीफ ने कहा कि साल 2003 से अब तक आंतक का सफाया क्यों नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि औरंगजेब का शहीद होना मेरा ही नुकसान नहीं है, ये पूरे कश्मीर का नुकसान है।

बता दें कि गुरुवार को जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों की कायराना हरकत एक बार फिर से देखने को मिली। पुलवामा में आतंकवादियों ने सेना के जवान औरंगजेब का अपहरण किया था, बाद में देर शाम उनकी हत्या कर दी। जवान के अगवा होने की खबर के बाद से पुलिस और सेना ने तलाशी अभियान चला रखा था। जवान का शव कालम्पोरा से करीब 10 किलोमीटर दूर गुस्सु गांव में मिला, उनके सिर और गर्दन पर गोलियों के निशान थे।

पुलिस ने बताया कि कंपनी कमांडर के करीबी औरंगजेब ईद मनाने के लिए गुरुवार (14 जून) की सुबह अपने घर राजौरी जा रहे थे कि उसी दौरान पुलवामा के कालम्पोरा से आतंकवादियों ने उनका अपहरण कर लिया। पुलिस और सेना के संयुक्त दल को औरंगजेब का शव कालम्पोरा से करीब 10 किलोमीटर दूर गुस्सु गांव में मिला, उनके सिर और गर्दन पर गोलियों के निशान थे।

उन्होंने बताया कि 4 जम्मू-कश्मीर लाइट इन्फेंटरी के औरंगजेब फिलहाल शोपियां के शादीमार्ग स्थित 44 राष्ट्रीय राइफल में तैनात थे। अधिकारियों ने बताया कि सुबह करीब नौ बजे यूनिट के सैनिकों ने एक कार को रोककर चालक से औरंगजेब को शोपियां तक छोड़ने को कहा। लेकिन आतंकवादियों ने उस वाहन को कालम्पोरा में रोका और जवान का अपहरण कर लिया।

सामने आया जाबांज जवान का आखिरी वीडियो

इस बीच भारतीय सेना के जाबांज जवान औरंगजेब का आखिरी वीडियो सामने आया है जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इस वीडियो को आतंकियों ने जारी किया है। जिसमें आतंकी जवान को एक पेड़ से बंधक बनाकर पूछताछ कर रहे हैं। औरंगजेब को अगवा कर मौत के घाट उतारने के एक दिन बाद शुक्रवार को आतंकियों ने उन्हें यातनाएं देने का वीडियो जारी किया है। सैन्यकर्मी औरंगजेब को गोली मार शहीद करने से पूर्व आतंकियों ने बेरहमी से पिटाई की थी।

इस वीडियो में आतंकियों और सेना के जवान औरंगजेब के बीच बातचीत को सुना जा सकता है। वीडियो में आतंकियों ने औरंगजेब को एक पेड़ के नीचे बैठा रखा है और उससे बंदूक के दम पर सवाल पूछ रहे है। वीडियो में किसी आतंकी का चेहरा तो नहीं दिख रहा है लेकिन सेना के जवान के साथ हुई बातचीत में आतंकी की आवाज एकदम साफ सुनाई दे रही है। इस वीडियो में आतंकियों ने जवान से उसके पिता का नाम, घर और किसी एनकाउंटर के दौरान उसके शामिल होने को लेकर सवाल पूछे।

आतंकियों ने औरंगजेब का आखिरी वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड किया है। वीडियो में वह काली टी-शर्ट और नीली जींस पहने हुए हैं और आतंकियों के सवाल का जवाब दे रहे हैं। वीडियो में वह यह कहते हुए भी नजर आ रहे हैं कि उन्‍होंने और मेजर रोहित शुक्‍ला ने कश्‍मीर में समीर टाइगर समेत कई आतंकियों को मारा है। मुठभेड़ के दौरान मारे गए आतंकियों के चेहरे गोलियों से बिगड़ने पर आतंकी उससे जवान से पूछ रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर: भारतीय सेना के जाबांज शहीद जवान औरंगजेब का आखिरी वीडियो

जम्मू-कश्मीर: भारतीय सेना के जाबांज शहीद जवान औरंगजेब का आखिरी वीडियो सामने आया है, जिसमें आतंकी बंदूक के दम पर जवान को एक पेड़ से बंधक बनाकर पूछताछ कर रहे हैं। वीडियो में देखिए, आंतकियों ने औरंगजेब से क्या-क्या पूछा?http://www.jantakareporter.com/hindi/aurangzebs-father-deadline-for-modi-government/192374/

Posted by जनता का रिपोर्टर on Friday, June 15, 2018

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here