तिरंगे के साथ वायरल इस तस्वीर के पीछे की दर्दनाक कहानी, यूजर्स बोले- अब तो शर्म करो BJP

0

स्वतंत्रता दिवस यानी 15 अगस्त को पूरा देश उत्साह के साथ आजादी का जश्न मनाया। स्वतंत्रता दिवस के दिन ही असम के एक सरकारी स्कूल में तिरंगा फहराने की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल रही थी, जो अभी भी खूब वायरल हो रही है। इस तस्वीर में चार लोग बाढ़ के पानी में खड़े होकर तिरंगे को सलामी दे रहे हैं। दरअसल, इस वक्त देश भर में राष्ट्रवाद को लेकर चल रही बहस के बीच यह तस्वीर अपने आप में बहुत कुछ बयां कर रही है।

PHOTO: Mizanur Rahman/Facebook

दरअसल, यह तस्वीर असम के ढुबरी जिले के फकीरगंज थाने के अंतर्गत आने वाले नसकारा एलपी स्कूल की है। जिस स्कूल में तिरंगा फहराया गया है, वहां बाढ़ से घुटनों तक पानी भरा हुआ है। इसके बावजूद इस स्कूल के अध्यापक और बच्चे तिरंगे को सलामी दे रहे हैं।

इसे सबसे पहले मिजानुर रहमान नाम के शख्स ने अपने फेसबुक वॉल पर पोस्ट की, जिसे रिपोर्ट लिखे जाने तक एक लाख पांच हजार से अधिक बार शेयर किया जा चुका है। मिजानुर रहमान उसी स्कूल में बतौर सहायक शिक्षक कार्यरत हैं। इस तस्वीर में दिख रहे चार लोगों में से दो बच्चे भी हैं। इन बच्चों के गले तक पानी में डूबे हुए हैं और तिरंगे को सलाम कर रहे हैं।

मिजानुर ने इस तस्वीर को पोस्ट करते हुए लिखा है, सभी को स्वतंत्रता दिवस की शुभकानाएं। मैं इस स्कूल में टीचर हूं। स्कूल का नाम है नसकारा एलपी स्कूल और ये असम के ढुबरी जिले में है। कहने की जरूरत नहीं है कि हम लोग यहां किस हालात में हैं, तस्वीर सारी कहानी खुद बयां कर रही है।

जानिए, तस्वीर की पूरी कहानी

वहीं, बीबीसी हिंदी से बात करते हुए मिजानुर ने बताया, ‘आज(15 अगस्त) सुबह हमने स्कूल में स्वतंत्रता दिवस समारोह मनाया था। सुबह सवा सात बजे ये तस्वीर मैंने ली थी।’ रहमान ने बीबीसी को बताया कि मुझे पता नहीं था कि इतने लोग इस तस्वीर को देखेंगे और शेयर करेंगे।

उन्होंने बताया कि दरअसल यहां बिजली कम ही आती है। तस्वीर पोस्ट करने के बाद मेरा मोबाइल फोन बंद हो गया था। मुझे शाम को ही पता चला कि इतने लोग इस तस्वीर को देख चुके हैं। जब बीबीसी ने पूछा कि ये नाटकीय तस्वीर आपने किस तरह ली या इसे स्टेज तो नहीं किया तो मिजानुर ने बताया, स्वतंत्रता दिवस समारोह मनाने के बाद हमने सोचा कि फेसबुक पर पोस्ट करने के लिए तस्वीर लें।

उन्होंने बताया कि जो दो बच्चे तस्वीर में दिख रहे हैं वो तैर सकते हैं, इसलिए हमने उन्हें झंडे के पास जाने के लिए कहा। उन्हें सैल्यूट करने के लिए कहा तो सबने सैल्यूट किया और हमने तस्वीर ले ली। मिजानुर ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस समारोह की तस्वीरें विभाग को भी देनी होती हैं, इसलिए हम हर साल समारोह की तस्वीरें लेते हैं।

तस्वीर के बहाने लोगों ने BJP पर बोला हमला

इस तस्वीर के बहाने सोशल मीडिया यूजर्स बीजेपी पर हमला बोल रहे हैं। देश में समय-समय पर राष्ट्रवाद को लेकर उठने वाली बहस और 15 अगस्त को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मदरसों में स्वतंत्रता दिवस समारोह की वीडियो रिकॉर्डिंग का निर्देश दिए जाने के मामले को लेकर लोगों का कहना है कि कम से कम अब तो बीजेपी को यह तस्वीर देखकर शर्म करनी चाहिए। लोगों का कहना है कि मुसलमानों को अपनी देशभक्ति साबित करने की जरूरत नहीं है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here