पद्मावत विवाद: ओवैसी का PM मोदी पर हमला, कहा- ‘सिर्फ मुसलमानों के लिए है प्रधानमंत्री का 56 इंच का सीना’

0

करणी सेना के भारी विरोध और प्रदर्शन के बीच गुरुवार (25 जनवरी) को ‘पद्मावत’ सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। लेकिन राजपूत समाज विशेषकर करणी सेना की ओर से फिल्‍म का हिंसक विरोध प्रशासन के लिए चुनौती बना हुआ है। हिंसक प्रदर्शनों के बीच मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने कहा है कि उसके सदस्य ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर बनी इस फिल्म का प्रदर्शन राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और गोवा में नहीं करेंगे। फिल्म का विरोध कर रही करणी सेना ने गुरुवार को देशव्यापी बंद का ऐलान किया है। देश के कई शहरों में सिनेमाघरों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। गुरुग्राम और नोएडा में स्कूल की छुट्टी कर दी गई है। सुप्रीम कोर्ट से संजय लीला भंसाली की विवादास्पद फिल्म ‘पद्मावत’ को रिलीज करने की हरी झंडी मिलने के बावजूद राजधानी दिल्ली, गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा और ग्रेटर नोएडा समेत कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन ने हिंसक रुप ले लिया है।

करणी सेना के कार्यकर्ताओं द्वारा अहमदाबाद, जयपुर, उदयपुर, मथुरा, भोपाल, ग्वालियर, इंदौर, उज्जैन, रतलाम और मुरैना, मुजफ्फरपुर में प्रदर्शन किया जा रहा है। भोपाल में तो प्रदर्शनकारियों ने कई वाहनों में आग लगा दी है। वाराणसी में एक प्रदर्शनकारी ने सिनेमा हॉल के बाहर खुद को आग लगाने की कोशिश, जिसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया। वहीं उत्तराखंड के ऋषिकेश में एक सिनेमा हॉल के बाहर पुलिस और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई।

ओवैसी का पीएम मोदी पर हमला

इस बीच ऑल इंडिया मज्लिस ए इतेहदुल मुसलिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने फिल्म ‘पद्मावत’ के बहाने एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला है। ओवैसी ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि, ‘प्रधानमंत्री मोदीजी कहते हैं कि उनकी छाती 56 इंच की है। लेकिन अब यह साबित हो गया है कि यह केवल मुस्लिमों के लिए ही है।’

ओवैसी ने कहा कि- जो कुछ भी हो रहा है यह और कुछ नहीं बल्कि BJP के द्वारा की जा रही ‘पकौड़ा’ राजनीति है, प्रधानमंत्री और उनकी पार्टी ने इन विरोध करने वाले लोगों के सामने सरेंडर कर दिया है, उनके पास 56 इंच का सीना केवल मुस्लिमों के लिए है।’ गौरतलब है कि ओवैसी भी पद्मावत फिल्म का विरोध कर रहे हैं।

चार राज्यों में नहीं दिखाई जाएगी ‘पद्मावत’

‘पद्मावत’ की रिलीज के खिलाफ बढ़ते हिंसक प्रदर्शनों के बीच मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने बुधवार (24 जनवरी) को कहा कि उसके सदस्य एतिहासिक पृष्ठभूमि पर बनी इस फिल्म का प्रदर्शन राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और गोवा में नहीं करेंगे।

न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, राजपूत संगठनों और अन्य तत्वों द्वारा इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए मॉल में तोड़फोड़ किये जाने, वाहनों को जलाये जाने और फिल्म की रिलीज को रोकने की कोशिश के तहत थियेटर मालिकों और आम लोगों को खुली चेतावनी दिए जाने के बाद संघ ने यह निर्णय किया।

यह संघ भारत के 75 प्रतिशत मल्टीप्लेक्सों के मालिकों का प्रतिनिधित्व करता है। संघ के अध्यक्ष दीपक अशर ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि, ‘‘हमने चार राज्यों-राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और गोवा में फिल्म का प्रदर्शन नहीं करने का फैसला किया है, क्योंकि स्थानीय प्रशासन ने हमसे कहा है कि कानून-व्यवस्था की स्थिति अनुकूल नहीं है।’’

उन्होंने बताया कि जिन राज्यों में फिल्म रिलीज होगी, वहां सिनेमा हॉल के बाहर पुलिस के अलावा निजी सुरक्षा गार्ड भी तैनात किये जाएंगे। बता दें कि संजय लीला भंसाली की ‘पद्मावत’ मेवाड़ के महाराजा रतन सिंह और सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी के बीच की लड़ाई पर आधारित पीरियड फिल्म है।

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here