अरविंद केजरीवाल और योगेंद्र यादव ने दक्षिणपंथी कट्टरवाद के खिलाफ एकजुट होकर मिलाए हाथ

1

दो साल के लम्बें अंतराल के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के पूर्व सहयोगी योगेंद्र यादव ने एक बार फिर हाथ मिलाने का फैसला किया है।

अरविंद केजरीवाल

कई सिविल सोसायटी समूह ट्रेड यूनियन और राजनीतिक दल आम आदमी पार्टी और स्वराज अभियान का एक हिस्सा है। ‘द मिंट’ ने समाचार एजेंसी PTI के हवाले से बताया कि दक्षिणपंथी फासीवाद के खिलाफ दोनों का एकजूट होकर एक मंच पर आना तय किया है।

इस बैठक में संयुक्त रूप से दोनों की ही तरफ से कार्यकर्ता और वरिष्ठ नेता उपस्थित थे। आप के दिलीप पांडे, स्वराज अभियान के यादव, समाजिक कार्यकर्ता जिग्नेश मेवानी, सीपीआई (एमएल) रेड स्टार के के एन रामचंद्रन, और पूर्व आईएएस अधिकारी और सामाजिक कार्यकर्ता हर्ष मंदर ने संयुक्त वक्तव्य जारी किया।

मंच ने सोमवार को घोषणा की कि लोकतंत्र को बचाने के लिए लोकतांत्रिक गठबंधन के रूप में बिल भेजा जाएगा व मंच 5 अक्टूबर को दिल्ली में एक विशाल रैली आयोजित करेगा जिसमें पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या और गाय संरक्षण के नाम पर हो रही हत्याओं सहित कई मुद्दों पर विरोध किया जाएगा।

मंच द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है, अब जवाब देने का समय है। सभी नागरिकों में दक्षिणपंथी फासीवाद के खिलाफ व्यापक रोष है। लोकतंत्र को बचाने के लिए सभी लोग एकजुट होकर इसके लिए आगे है।

इस बारें में अधिक जानकारी देते हुए बताया गया कि 5 अक्टूबर को यह रैली मंडी हाउस और जंतर मंतर के बीच 1 बजे के बीच आयोजित की जाएगी। जबकि आपको बता देकि हाल के दिनों में, इन दलों ने संयुक्त रूप से नर्मदा बचाव आंदोलन का समर्थन किया था।

1 COMMENT

  1. THAT IS A JUST A MAGNANIMOUS FRIEDLY GESTURE FROM THE BIG HEARTED KEJRIWAL…..TO THE PAST TRAITOR YOGENDRA YADAV WHO IS NOW A DEAD LOSS IN THE POLITICAL WORLD – WHO THREATENED TO START ANOTHER PARTY WITH BHUSHANS AND ENDED UP NON-ENTITIES……………………………………. ….
    BUT I DON’T SEE ANYTHING MORE IN THIS GESTURE, AND SUGGEST PEOPLE NOT TO EXPECT MUCH FROM THE SCOUNDREL YOGENDRA YADAV……………………………..WHEN HE WILL TURN AROUND AND STAB AGAIN IS ANYBODY’S GUESS. NO ONE THOUGHT HE WOULD DO SUCH A THING IN THE PAST, TILL HE DID IT.
    WHAT DID VINOD BINNY DO?………………. WHAT DID SHAZIA ILMI DO?,……………………… WHAT DID AVAM SCOUNDRELS DO?…………………. WHAT DID KAPIL MISHRA DO?…………………….. EVERY ONE WERE NICE AT THE START, AND WHEN THEY FOUND THEIR AMBITIONS OF MAKING MONEY OR QUICK POWER DIDN’T MATERIALIZE THEY BECAME CHEAPOS COLLABORATED WITH BJP SCHEMING AND INDUCING THEM WITH SOME POSITIONS AND MONIES, THEY ALL SUDDENLY REBELLED AGAINST AK AND AAP, USING ALL THE DIRTY ACCUSATIONS AND ALL OF THEM JOINED BJP AS THEIR SATELLITE TROUBLE MAKERS FOR AAP…..SO DID YOGENDRA YADAV…DIDN’T JOIN BJP, BUT PLAYED PUPPET TO THEIR GAMES ON AAP…………………………..WELL, IF KEJRIWAL HAS TAKEN A STEP TO TRUST HIM, I WILL REMAIN HIS LOYAL GENERAL ON THE FIELD…CAUTION AND WARN HIM OF IMPENDING DANGERS….AND TRUST HIM….. ………….KEJRIWAL WILL CERTAINLY NOT ALLOW HIMSELF TO BE FOOLED AGAIN…AND MAYBE, ASSIGN YOGENDRA A TOUGH ASSIGNMENT TO ACHIEVE TO PROVE HIS LOYALTY TO AAP AND SHOW RESULTS BEFORE HE IS ENTRUSTED WITH ANY SERIOUS RESPONSIBILITIES.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here