जिग्नेश मेवानी को मिल रही धमकी पर जानिए क्या बोले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

0

दलित कार्यकर्ता और गुजरात के वडगाम से निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी को पिछले कुछ दिनों से लगातार जान से मारने की धमकियां मिल रही है। वहीं, जिग्नेश मेवानी का आरोप है कि उन्हें मिल रही धमकियां एक सरकारी साज़िश है? साथ ही मेवानी ने आरोप लगाया कि, उन्हें यह धमकी अंडरवर्ल्ड माफिया डॉन रवि पुजारी की तरफ से मिल रही हैं।

जिग्नेश मेवानी ने शुक्रवार(8 जून) को ट्वीट करते हुए लिखा, “मुझे मिल रही धमकियां एक सरकारी साज़िश? क्योंकि यदि कोई रवि पूजारी हमे मार डाले तब तो बीजेपी का काम आसान हो जायेंगा। अंबेडकरवादी आंदोलन पर हमला करने की भी यह चाल लग रही है।”

बता दें कि, जिग्नेश मेवानी ने राज्य सरकार पर आरोप लगा रहे हैं कि सरकार शिकायत के बाद भी खामोश है और वह कुछ नहीं कर रहीं है। वहीं, अब आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक और दिल्‍ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जिग्नेश मेवानी के समर्थन में आ गए है और उन्होंने भी सरकार पर सवाल उठाए है।

जिग्नेश मेवानी के ट्वीट पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोशल मीडिया के जरिए उनका समर्थन करते हुए राज्य की भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) सरकार पर निशाना साधा। सीएम केजरीवाल ने पूछा कि जिग्नेश द्वारा लगाए गए आरोपों के बाद भी सरकार कुछ क्यों नहीं कर रही है? इससे शक हो रहा है कि कहीं यह सब सत्ता में बैठे लोगों के इशारों पर तो नहीं हो रहा?

गौरतलब है कि, जिग्नेश मेवानी ने गुरुवार(7 जून) को ट्वीट करते हुए लिखा, “आज फिर से उसी नम्बर से हमारे मोबाइल पर फोन आया जिसने कल गोली मार देने को कहा था। आज फोन कर के उस आदमी ने दुबारा धमकी दिया कि – लल्लू पंजू समझा है क्या, परिणाम का इंतज़ार करो।

बता दें कि, इससे पहले जिग्नेश मेवानी ने बुधवार(6 जून) को ट्वीट करते हुए लिखा था कि, ‘मेरे मोबाइल नंबर 9724379940 पर 7255932433 नंबर से एक कॉल आया, जिसमें मुझे गोली मारने की धमकी दी गई। मेरे सहयोगी कौशिक परमार (जिनके पास आजकल मेरा यह नंबर रहता है) ने अभी मुझे बताया कि किसी रणवीर मिश्रा का फोन आया था और बोला कि तुम अगर जिग्नेश मेवानी हो तो तुम्हें गोली मार दूंगा।

बुधवार को मिली धमकी के संबंध में वडगाम पुलिस स्‍टेशन में मामला दर्ज करा दिया गया है। समाचार एजेंसी भाषा के हवाले से एक न्यूज़ वेबसाइट में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस सब-इंस्पेक्टर आर पी जाला ने कहा, ‘वडगाम में मेवानी का दफ्तर परमार ही संभालता है। उसकी शिकायत के आधार पर हमने कॉल करने वाले के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। कॉल करने वाले की पहचान राजवीर मिश्रा के तौर पर हुई है।’ जाला ने कहा कि मिश्रा ने कथित तौर पर परमार को फोन किया और मेवानी को गोली मारने की धमकी दी। आईपीसी की धारा 507 के तहत केस दर्ज किया गया है।

बता दें, जिग्नेश मेवानी इस समय देश में दलितों का मुख्य चेहरा है। जिग्नेश मेवाणी गुजरात में हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव जीते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here