केजरीवाल बोले- हम सत्ता का सुख भोगने नहीं आए, वापस आंदोलन करना पड़ेगा

0

आम आदमी पार्टी(आप) प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि यदि एग्जिट पोल के मुताबिक दिल्ली नगर निगम(MCD) चुनाव में बीजेपी को जीत मिलती है तो वह बड़ा आंदोलन करेंगे। उन्होंने कहा कि हम ईवीएम टेम्पेरिंग बर्दाश्त नहीं करेंगे और इस ‘बेईमानी’ के खिलाफ आंदोलन करेंगे। केजरीवाल ने कहा कि हम आंदोलन से निकले हैं, यहां सत्ता की मलाई खाने के लिए नहीं बैठे हैं। फिर से आंदोलन की शुरूआत करेंगे। सोमवार को आम आदमी पार्टी ने चुनावों को लेकर पर्यवेक्षकों की बैठक की। पर्यवेक्षकों की इस बैठक में वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास, आशुतोष समेत विधायक और करीब 300 लोग शामिल हुए। पर्यवेक्षकों का मानना है कि पार्टी का प्रदर्शन एग्जिट पोल जितना खराब नहीं होगा, लेकिन दिल्ली विधानसभा चुनाव जैसा प्रदर्शन दोहराने की उम्मीद भी नहीं है।

इस दौरान केजरीवाल ने कहा कि अगर पंजाब, उत्तर प्रदेश, गोवा जैसे नतीजे दिल्ली निगम चुनाव में भी आए, तो दोबारा नए सिरे से आंदोलन का आगाज करेंगे। अगर सर्वे सही हुआ तो साबित हो जाएगा कि पंजाब, यूपी, मुंबई, भिंड और धौलपुर की तरह यहां के इलेक्शन में भी धांधली हुई। AAP के एक समर्थक ने ट्विटर पर एक वीडियो डाला है, जिसमें केजरीवाल अपने कार्यकर्ताओं को ईवीएम के मुद्दे के बारे में विस्तार से समझाकर उन्हें आंदोलन के लिए तैयार रहने को कह रहे हैं।

Also Read:  सलमान खान ने मजाकिया लहज़े में कहा, 'मुझे अब थोड़ा कम बोलना चाहिए'

केजरीवाल ने कहा कि जीत या हार हो और उसका हम मूल्यांकन करेंगे, लेकिन अगर ऐसे नतीजे आएंगे तो ईवीएम की टेम्पेरिंग इस देश के अंदर होती रहेगी। मेरे कहने का मतलब ये नहीं कि हम परसों (एमसीडी चुनाव की मतगणना के दिन) जीतेंगे या हारेंगे, लेकिन अगर इस तरह के नतीजे आए तो ये बेईमानी साबित करनी है जो पंजाब में हुई, यूपी में हुई, पुणे, मुम्बई, भिंड, धौलपुर में हुई। इम इस तरह की बेईमानी बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि हम आंदोलन से आए थे। हम यहां सत्ता का सुख भोगने नहीं आए, वापस आंदोलन करना पड़ेगा।

Also Read:  वीडियो बनाने वाले जवान यज्ञ प्रताप भूख हड़ताल पर, पत्नी का दावा, कहा अगर कुछ हो गया तो सरकार होगी जिम्मेदार

पर्यवेक्षकों को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि जिन गांवों में अकालियों को घुसने नहीं दिया गया, सारे वोट ‘आप’ के थे, वहां भी अकाली व कांग्रेस को बड़ी संख्या में वोट मिले। आपत्ति ईवीएम की गड़बड़ियों पर है। अगर पंजाब, गोवा, उत्तर प्रदेश जैसे नतीजे निगम चुनाव के आए, तो हम बेईमानी बर्दाश्त नहीं करेंगे।

जबकि, पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने सोमवार को कहा कि यदि आप में जीतती है तो इसका पूरा श्रेय दिल्ली की जनता को जाएगा। वहीं, अगर पार्टी हारी तो गलती ईवीएम की होगी। गोपाल ने यह बात ईवीएम में आई खराबी की खबरों को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कही।

वहीं, दो सामाचार चैनलों द्वारा दिखाए गए एग्जिट पोल से खुश दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि दक्षिण, उत्तरी और पूर्वी दिल्ली नगर निगम के करीब 250 वार्ड में उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान लोगों का अभूतपूर्व समर्थन देखा है।

Also Read:  एयर इंडिया ने कर ली है 'चप्पलमार लोगों' से निपटने की तैयारी, अनुमति का इंतजार

उन्होंने कहा कि मैंने अपने जीवन में किसी पार्टी के लिए जनता का ऐसा समर्थन पहले नहीं देखा है, खास तौर पर अनियमित कालोनियों, झुग्गियों और शहर के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों में। हमें अभूतपूर्व जीत की आशा है।जबकि, एग्जिट पोल के नतीजों को गलत बताते हुए कांग्रेस नेताओं ने कहा कि परिणाम से पता चलेगा कि पार्टी बीजेपी के साथ कांटे की टक्कर में थी। वहीं चुनाव में शामिल तीसरी बड़ी पार्टी आप के तीसरे नंबर पर रहने की आशंका है।

गौरतलब है कि दोनों एग्जिट पोल में बीजेपी को करीब 220 सीटें और कांग्रेस को करीब 31 सीटों पर जीत मिलने की संभावना जताई गई है। बता दें कि राजधानी दिल्ली के तीन नगर निगमों के लिए 23 अप्रैल को हुए चुनाव में 272 सीटों वाले एमसीडी चुनाव में 270 सीटों पर 58.58 प्रतिशत मतदान हुआ, 26 अप्रैल को इसके नतीजे आएंगे। दो सीटों पर उम्मीदवारों की मौत के कारण चुनाव स्थगित हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here