PM मोदी के उपवास पर केजरीवाल ने कसा तंज, कांग्रेस ने बताया ‘ढोंग’

0

संसद सत्र को न चलने देने के कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों के रवैये के खिलाफ केंद्र में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद 12 अप्रैल यानी गुरुवार को देश भर में भूख हड़ताल पर बैठेंगे। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी उपवास रखेंगे। हालांकि इस दौरान पीएम मोदी दिल्ली में उपवास पर रहते हुए अपने कार्यालय में सामान्य कामकाज करेंगे।Kejriwalबता दें कि संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण में कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों ने भारी हंगामा कर एक भी दिन कामकाज नहीं होने दिया था। इसके खिलाफ बीजेपी सांसदों ने इस अवधि के सभी 23 दिनों का वेतन व भत्ता नहीं लेने और विपक्ष को आम जनता में बेनकाब करने के लिए 12 अप्रैल को एक दिन का अनशन का फैसला किया था।

कांग्रेस ने बताया ढोंग

कांग्रेस ने कहा कि संसद के बजट सत्र में काम बाधित किए जाने के विरोध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गुरुवार को एक दिन का उपवास करने की घोषणा ‘‘ढोंग’’ है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को युवाओं, दलितों और समाज के अन्य वर्गों से माफी मांगनी चाहिए जिन्हें उनकी सरकार द्वारा कथित रूप से नीचा दिखाया गया। समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक, कांग्रेस के संचार प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी नीत केंद्र सरकार को लोकसभा में पूर्ण बहुमत के बावजूद संसद का कामकाज नहीं होने के लिए जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि, ‘‘मोदी सरकार द्वारा उपवास एक ढोंग है। बीजेपी को राष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए और 250 से अधिक घंटों तक संसद को बाधित करने के लिए उपवास करना चाहिए। लोकसभा में जहां भाजपा का बहुमत है वहां इसके समय का केवल एक प्रतिशत समय कामकाज हुआ और राज्यसभा में केवल छह प्रतिशत काम हुआ।’’ सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि सरकार ने संसद का ‘‘निरादर’’ और ‘‘स्तर नीचा’’ किया है।

केजरीवाल ने कसा तंज

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी पीएम मोदी के इस उपवास कार्यक्रम पर ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी है। केजरीवाल ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा है कि, यह सच में बहुत क्यूट है। एक दिन का उपवास, खुद के खिलाफ। केजरीवाल ने इस ट्वीट से इशारों-इशारों में प्रधानमंत्री को संसद में गतिरोध की वजह भी बता दिया है।

बता दें कि दलितों के हो रहे कथित अत्याचार, जातीय हिंसा, केंद्र सरकार की ‘नाकामी’, संसद की कार्यवाही ठप होने के खिलाफ और साम्प्रदायिक सौहार्द्र को लेकर कांग्रेस ने सोमवार (9 अप्रैल) को राजघाट के साथ देशभर में उपवास रखा था। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी राजघाट पर एक दिन के भूख हड़ताल पर बैठे थे। बीजेपी की ओर से आयोजित यह उपवास उसी का जवाब माना जा रहा है।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here