राफेल मामला: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर अरविंद केजरीवाल का बड़ा बयान, मायावती ने कहा- माफी मांगे मोदी

0

राफेल डील मामले को लेकर मोदी सरकार को सुप्रीम कोर्ट की ओर से बड़ा झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार (10 अप्रैल) को राफेल सौदे से संबंधित कुछ नए दस्तावेजों को आधार बनाये जाने पर केंद्र की प्रारंभिक आपत्ति को ठुकरा दिया। इन दस्तावेजों पर केंद्र सरकार ने ‘विशेषाधिकार’ का दावा किया था। सुप्रीम कोर्ट अब इस मामले की दोबारा से सुनवाई करेगा।

वहीं सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद मोदी सरकार एक बार फिर से विपक्ष के निशाने पर आ गई है। आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक व दिल्‍ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट का फैसला आते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला है।

फेल केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कांग्रेस ने कहा है कि यह भारत के लिए एक जीत है। राफेल याचिका की समीक्षा के लिए हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं।

कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘मोदी जी जितना चाहें भाग सकते हैं और झूठ बोल सकते हैं। लेकिन आज नहीं तो कल सच सामने आ जाएगा।’ उन्होंने दावा किया, ‘राफेल घोटाले की परतें एक-एक करके खुल रही हैं। अब ‘कोई गोपनियता का कानून नहीं है’ जिसके पीछे आप छिप सकें।’

सुरजेवाला ने कहा, ‘उच्चतम न्यायालय ने कानूनी सिद्धान्त को बरकरार रखा है। परेशान मोदी जी ने राफेल के भ्रष्टाचार का खुलासा करने वाले स्वतंत्र पत्रकारों के खिलाफ सरकारी गोपनीयता कानून लगाने की धमकी दी। चिंता मत करिए मोदी जी, अब जांच होने जा रही है चाहे आप चाहें या नहीं चाहें।’

अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा, “मोदी जी हर जगह कह रहे थे कि उन्हें सुप्रीम कोर्ट से राफ़ेल में क्लीन चिट मिली है। आज के सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से साबित हो गया कि मोदी जी ने राफ़ेल में चोरी की है, देश की सेना से धोखा किया है और अपना जुर्म छिपाने के लिए सुप्रीम कोर्ट को गुमराह किया।”

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर लिखा, “राष्ट्रीय सुरक्षा की आड़ में राफेल रक्षा सौदे में भारी गड़बड़ी/भ्रष्टाचार को छिपाने की पीएम श्री मोदी सरकार की कोशिश विफल। सुप्रीम कोर्ट में बीजेपी सरकार पूरी तरह घिरी। संसद के भीतर व बाहर बार-बार झूठ बोलकर देश को गुमराह करने के लिए श्री मोदी माफी मांगे व रक्षा मंत्री इस्तीफा दें।”

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखा, “जिन संस्थाओं को संविधान की रक्षा करनी चाहिए उन्हें भाजपा खोखला कर रही है। एक तरफ़ चुनाव आयोग की रीढ़ की हड्डी टूट चुकी है तो दूसरी तरफ़ पुलिस मूकदर्शक बनी अपराध होते देख रही है। समय है का।”

राफेल मामले में समीक्षा याचिका दाखिल करने वालों में से एक आरुण शौरी ने मीडिया से बात करते हुए कहा, हमारा तर्क यह था कि क्योंकि दस्तावेज रक्षा से संबंधित हैं, इसलिए उनकी जांच करनी चाहिए। कोर्ट ने साक्ष्य मांगे और हमने पेश कर दिया। इसलिए कोर्ट ने हमारी दलीलों को स्वीकार कर लिया है और सरकार की दलीलों को खारिज कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here