राहुल जी मंदिरों में घूम रहे हैं और मोदी जी मस्जिदों में, मंदिर-मस्जिद घूमने से नहीं स्कूल और अस्पताल देने से होगा राष्ट्र निर्माण: केजरीवाल

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इंदौर के स्थानीय मस्जिद में हजारों लोगों के सामने वाअज (धार्मिक प्रवचन) फरमा रहे दाऊदी बोहरा समुदाय के धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन से शुक्रवार को मुलाकात करने और पिछले दिनों कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कैलाश मानसरोवर यात्रा को लेकर आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर तंज कसा है।

वीके जैन
File Photo: PTI

सीएम केजरीवाल ने दोनों पर तंज कसते हुए कहा है कि राष्ट्र निर्माण मंदिर मस्जिद से नहीं बल्कि लोगों को स्कूल, अस्पताल, सड़कें, बिजली, पानी देने से बनेगा। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी के भारत के मंदिर और मस्जिद स्कूल, उच्च शिक्षण संस्थान और वर्ल्ड क्लास रिसर्च इन्स्टिट्यूट हैं।

केजरीवाल ने रविवार (16 सितंबर) को ट्वीट कर लिखा है, “राहुल जी मंदिरों में घूम रहे हैं, मोदी जी आजकल मस्जिदों में घूम रहे हैं। राष्ट्र निर्माण मंदिर मस्जिद से नहीं बल्कि लोगों को स्कूल, अस्पताल, सड़कें, बिजली, पानी देने से बनेगा। 21वीं सदी के भारत के मंदिर और मस्जिद स्कूल, उच्च शिक्षण संस्थान और वर्ल्ड क्लास रिसर्च इन्स्टिट्यूट हैं”

बता दें कि दाऊदी बोहरा समुदाय के एक प्रवक्ता के मुताबिक यह देश के इतिहास का पहला मौका था, जब कोई प्रधानमंत्री ‘अशरा मुबारक’ (इस्लामी कैलेंडर के पहले महीने मोहर्रम के शुरूआती 10 दिनों की पवित्र अवधि) के धार्मिक प्रवचन के दौरान इस समुदाय के धर्मगुरु से मिलने किसी मस्जिद में पहुंचा हो। नौ दिवसीय प्रवचन माला के लिए दुनिया भर से हजारों दाऊदी बोहरा इंदौर में जुटे हैं।

सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन ने स्थानीय सैफी नगर मस्जिद की विशाल प्रवचन सभा में प्रधानमंत्री मोदी के साथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आत्मीय स्वागत किया। दाऊदी बोहरा समुदाय के धर्मगुरु ने इस दौरान कहा, ‘हर धर्म हमें दूसरों से मोहब्बत करना सिखाता है।’ उन्होंने प्रधानमंत्री को 17 सितंबर को पड़ने वाले उनके जन्मदिन के मद्देनजर उन्हें अग्रिम बधाई भी दी।

वहीं, वहीं, राहुल गांधी हाल ही में कैलाश मानसरोवर की यात्रा से वापस आए हैं। उन्होंने वहां से एक वीडियो शेयर कर कहा था कि ‘‘शिव ही ब्रह्मांड हैं।’’ इसके अलावा वहां से उनकी कुछ तस्वीरें भी सामने आई थीं, जिनमें वह दूसरे तीर्थयात्रियों से बात करते और उनके साथ फोटो खिंचवाते देखे जा सकते हैं। राहुल गांधी गत 31 अगस्त को इस यात्रा के लिए नेपाल रवाना हुए थे जहां से उन्होंने कैलाश के लिए प्रस्थान किया था।

गौरतलब है कि 26 अप्रैल को कर्नाटक की यात्रा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष के विमान में तकनीकी खराबी आने के कारण विमान तेजी से नीचे आने लगा था, हालांकि फिर पायलट ने विमान संभाल लिया था और सुरक्षित नीचे उतारा था। इसके तीन दिन बाद 29 अप्रैल को गांधी ने एक रैली के दौरान कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने की घोषणा की थी। राहुल पार्टी पर हिंदू विरोधी होने के आरोप का दाग मिटाने के लिए लगातार अपने चुनावी दौरों में मंदिर दर्शन कर इस मिथ्या को तोड़ने का प्रयास करने की कोशिश करते नजर आ रहे हैं।

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here