जानिए क्यों अरुण जेटली ने PM मोदी से हाथ मिलाने से कर दिया इनकार!

0

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) उम्मीदवार और जनता दल-युनाइटेड (जदयू) के सदस्य हरिवंश नारायण सिंह को गुरुवार (9 अगस्त) को राज्यसभा का उपसभापति चुना गया। हरिवंश को राजग ने अपने उम्मीदवार के रूप में चुनावी मैदान में उतारा था। हरिवंश ने विपक्ष के उम्मीदवार बी.के. हरिप्रसाद को 20 वोटों से हराया। हरिवंश को 125 जबकि हरिप्रसाद को 105 वोट मिले। मतदान में दो सदस्यों ने हिस्सा नहीं लिया। सदन में कुल 232 सदस्य मौजूद थे।

उपसभापति चुनाव के अलावा आज का दिन इस लिहाज से भी काफी महत्वपूर्ण रहा कि किडनी ट्रांसप्लांट के करीब तीन महीने बाद केंद्रीय मंत्री एवं सदन के नेता अरुण जेटली गुरुवार को राज्यसभा पहुंचे थे। इस दौरान एक ऐसा वाक्या देखने को मिला जिसे देखकर हर कोई हैरान रह गया। दरअसल हरिवंश सिंह को राज्यसभा का उपसभापति चुने जाने के बाद बधाई देने के क्रम में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरुण जेटली की तरफ हाथ बढ़ाया, तो उन्होंने हाथ मिलाने से इनकार कर दिया।

दरअसल, किडनी ट्रांसप्लांट के बाद गुरुवार को पहली बार सुबह सदन की कार्यवाही शुरु होने पर जेटली ने जैसे ही सदन में प्रवेश किया तो पक्ष-विपक्ष के सदस्यों ने मेजें थपथपाकर उनका स्वागत किया। जेटली ने भी हाथ जोड़कर सदस्यों का अभिवादन किया। सभापति एम. वेंकैया नायडू ने जेटली की सेहत के लिहाज से सदस्यों को सलाह दी कि वे पास जाकर उनसे हाथ नहीं मिलाएं।

उन्होंने कहा कि सदस्यों को अति उत्साह दिखाते हुए जेटली से हाथ नहीं मिलाना चाहिए और उनसे दूर से बात करनी चाहिए, क्योंकि डॉक्टर ने उन्हें संक्रमण से बचने के लिए लोगों से दूर रहने की सलाह दी है। इसके उपरांत सदन में आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेटली से हाथ मिलाने के लिए अपना हाथ बढ़ाया तो उन्होंने मुस्काराते अपना हाथ बढ़ाने की बजाय दोनों हाथ जोड़कर उनका अभिवादन किया।

बता दें कि जेटली का गत मई में किडनी ट्रांसप्लांट हुआ था और उसके बाद से वे किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में भाग नहीं ले रहे थे और स्वास्थ्य लाभ कर रहे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरिवंश को शुभकामनाएं देते हुए उनके विभिन्न क्षेत्रों के अनुभव के हवाले से उनके निर्वाचन को सदन के लिए गौरव का विषय बताया। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस सदस्य पीजे कुरियन के पिछले महीने सेवानिवृत्त होने के बाद उपसभापति का पद खाली हुआ था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here