अर्नब गोस्वामी की बढ़ सकती है मुसीबत, महाराष्ट्र के गृह मंत्री से मुलाकात कर शिवसेना सांसद ने की कानूनी कार्रवाई की मांग; एक अन्य शिवसेना नेता ने रिपब्लिक टीवी के संस्थापक से कहा ‘हाथ जोड़कर मांगे माफी’

0

अंग्रेजी समाचार चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ के विवादास्पद एंकर और संस्थापक अर्नब गोस्वामी एक बार फिर से मुसीबत में फंस सकते है, क्योंकि शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात कर गोस्वामी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की।

अर्नब गोस्वामी

रिपब्लिक टीवी के संस्थापक के खिलाफ यह कानूनी कार्रवाई उन्होंने दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री का नाम लेने पर की है। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात के दौरान हुए दिए गए पत्र की एक तस्वीर सांसद अरविंद सावंत ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर की है। मुंबई साउथ के सांसद अरविंद सावंत ने अपने पत्र में कहा कि अर्नब गोस्वामी सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर अपने मीडिया ट्रायल के जरिए प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के दिशानिर्देशों का उल्लंघन कर रहे है। जबकि एक अन्य शिवसेना नेता ने रिपब्लिक टीवी के संस्थापक से हाथ जोड़कर माफी की मांग की है।

मराठी में लिखे उनके पत्र का अनुवाद करते हुए हिंदुस्तान टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में लिखा, “पत्रकारिता की आड़ में, हिंदी समाचार चैनल रिपब्लिक भारत और अंग्रेजी समाचार चैनल रिपब्लिक टीवी के मुख्य संपादक श्री अर्नब गोस्वामी लगातार गैर-जिम्मेदाराना ढंग से समाचार प्रसारित कर रहे हैं। किसी भी सबूत के बिना समाचार चैनल और उसके मुख्य संपादक अर्नब गोस्वामी महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री पर आरोप लगाते रहे हैं।”

शिवसेना के एक अन्य नेता ने हाल ही में एक टीवी डिबेट शो के दौरान उनके साथ अपमानजनक व्यवहार करने के लिए गोस्वामी से हाथ जोड़कर माफी मांगने की मांग की है। समाचार एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, शिवसेना नेता और वसंतराव नाइक शेट्टी स्वावलंबन मिशन (वीएनएसएसएम) के अध्यक्ष किशोर तिवारी ने कहा कि, चैनल पर जिस तरह से बहसें हुई हैं, वह “सुप्रीम कोर्ट की अवमानना” का प्रयास था।

तिवारी ने कहा कि बहस के दौरान उनके विरोध के बावजूद गोस्वामी ने अपनी ‘दृढ़ इच्छाशक्ति और न्यायालय की अवमानना’ जारी रखी और सुशांत मामले पर अदालती कार्यवाही को प्रभावित करने और हस्तक्षेप करने का प्रयास किया।

उल्लेखनीय है कि, सुशांत का शव 14 जून को उसके मुंबई में बांद्रा स्थित उनके फ्लैट से बरामद हुआ था। अभिनेता के मौत की ख़बर ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था। उनकी मौत की खबर सुनकर हर कोई हैरान है, किसी को अंदाजा नहीं था कि फिल्म जगत का एक ऐसा कलाकार जिसने इतने थोड़े से वक्त में इतना मुकाम हासिल किया है वो कुछ ऐसा कदम उठा सकता है।

बता दें कि, सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार (19 अगस्त) को बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में सीबीआई जांच के आदेश दे दिए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई पुलिस को जांच में सहयोग करने और इस मामले से जुड़े सभी दस्तावेज सीबीआई को सौंप देने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here