अर्नब गोस्वामी को अपनी विदाई का मेगा शो होस्ट करने से चैनल प्रबंधन द्वारा रोका गया था

0

टाइम्स नाउ के पूर्व एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी को चैनल प्रबंधन ने अपने विदाई के विशेष मेगा शो को होस्ट करने से रोक दिया गया था।। सुत्रों ने जनता का रिर्पोटर को बताया कि चैनल प्रबंधन इस विशेष चार घटें के शो की मेजबानी की अनुमति अर्नब को नहीं दी थी।

अरनब गोस्वामी
MUMBAI, INDIA ? APRIL 03: Arnab Goswami, Indian Journalist, Editor in Chief and News anchor of the news channel Times Now at his office in Mumbai.(Photo by Bhaskar Paul/India Today Group/Getty Images)

बताया गया कि टाइम्स नाउ से अपने इस आखिरी विदाई शो न्यूज़ आर के लिए अर्नब राजनीति, मनोरंजन और खेल के बड़े नामों को शामिल करने के लिए उत्सुक थे। लेकिन अचानक से चैनल के सीईओ एम. के. आनंद ने 17 नवंबर में स्टाफ को बताया कि अब उनका आखिरी शो 18 नवंबर को पेश किया जाएगा।

Also Read:  सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे MMS पर शिल्पा शिंदे ने तोड़ी चुप्पी

इसके अलावा कथित तौर पर बताया गया कि एम. के. आनंद ने ये भी कहा कि उनका ये आखिरी शो पिछले किसी न्यूज़ आर की भांती ही होना चाहिए। जैसे की ये पहले की अन्य डिबेट होती थी।

टाइम्स के ही एक स्टाफ ने बताया कि जिस समय आनंद ने ये घोषणा की उस समय अर्नब आॅफिस में ही मौजूद थे। हम सभी उनका ये फैसला सुनकर दंग रह गए थे। उस समय सीईओ के हाव भाव से पता चल रहा था कि सारा प्रबंधन तंत्र नहीं चाहता कि अर्नब के चैनल छोड़ने से पहले वह इस तरह के शो की होस्टिंग करें।

Also Read:  दुनियाभर में 2016 में 122 पत्रकार मारे गए, पांच पत्रकारों की भारत में गई जान

आपको बता दे कि पिछले दिनों एंकर अर्नब गोस्वामी ने अपना इस्तीफा दे दिया था। जनता का रिर्पोटर ने विशेष रूप से इस खबर को सबसे पहले प्रकाशित किया था।

जनता के रिर्पोटर से बात करते हुए टाइम्स नाऊ के मुम्बई स्थित पत्रकार ने बताया था कि एक विशेष सम्पादकीय मीटिंग के दौरान अर्नब ने अपने इस्तीफें की घोषणा की।

वह नोएडा स्थित अपने आॅफिस में वीडियों काॅन्फ्रेसिंग के जरिये अपने साथियों से बात कर रहे थे। मीटिंग में भाग लेने वाले उनके सहयोगी ने बताया कि डेढ़ घंटे तक उन्होंने अपने सहयोगियों से बाचतीत की। इस दौरान वह वह बेहद अक्रामक नज़र आ रहे थे।

Also Read:  जस्टिस जेएस खेहर ने ली मुख्य न्यायधीश की शपथ, बने पहले सिख मुख्य न्यायधीश

इस्तीफें के बाद ली जा रही इस मीटिंग में उनके एक सहयोगी ने जनता के रिर्पोटर पर प्रकाशित उनके इस्तीफे वाली खबर का ट्वीट उन्हें दिखाया जिसे देखकर वह भड़क गए थे।

मीटिंग के कुछ देर चलने के बाद ही जनता के रिर्पोटर ने उनके इस्तीफें की खबर को ब्रेक कर दिया था। मुम्बई स्थित बैठक में हिस्सा ले रहे उनके सहयोगी ने उनको ये ट्वीट दिखाया जिस पर वह भड़क गए और कहा ”मुझे इस पोर्टल से मतलब नहीं हैं कि वे क्या प्रकाशित करते है… और क्या सोचते है… मैंने अब ये छोड़ दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here