बदले सुर में अर्नब गोस्वामी ने BJP से कहा, “जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों के घरों पर पत्थर नहीं फेंकते”

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार (11 मार्च) को आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वर्षों पहले भारतीय जेल से छोड़े जाने को लेकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर तंज कसते हुए इस आतंकी के लिए ‘जी’ शब्द लगाकर संबोधित कर दिया। इस पर बीजेपी के तमाम वरिष्ठ नेताओं और मंत्रियों ने उन पर जमकर निशाना साधा। वहीं, कांग्रेस ने भी केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का एक पुराना वीडियो साझा कर बीजेपी को जवाब दिया है, जिसमें वह आतंकी हाफिज सईद को ‘हाफिज जी’ कहते हुए सुनाई दे रहे हैं।

राहुल गांधी के बयान को लेकर अन्य बीजेपी समर्थक चैनलों की तरह बीजेपी के राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर की मदद से रिपब्लिक टीवी की स्थापना करने वाले अर्नब गोस्वामी ने भी जमकर डिबेट किया और कांग्रेस पर सवाल उठाए। वैसे तो अर्नब और उनके चैनल को अक्सर भारतीय मीडिया में भगवा पार्टी के ध्वजवाहक के रूप में देखा जाता है। लेकिन राहुल गांधी के बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद सहित कई बीजेपी नेताओं का आतंकियों के सम्मान में ‘जी’ और ‘श्री’ शब्द लगाकर संबोधन का वीडियो सामने आने के बाद उपजे राजनीतिक विवाद पर हर रोज की तरह कार्यक्रम में बहस के दौरान अर्नब गोस्वामी का बदला हुआ रूख देख सभी हैरान रह गए।

इस साल होने वाले लोकसभा चुनाव से ठीक पहले अर्नब ने अपने डिबेट के दौरान बीजेपी को शख्स संदेश दिया है। दरअसल, बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया और वकील मोनिका अरोड़ा शो के दौरान इस विवाद में बीजेपी का बचाव कर रहे थे, लेकिन इस बीच इन दोनों को उस वक्त एक बहुत बड़ा वास्तविक आघात लगा, जब इन्होंने गोस्वामी का एक बदला हुआ असामान्य रुख देखा। मसूद अजहर, हाफिज सईद और अफजल गुरु को सम्मानजनकर रूप से संबोधित करते हुए कई बीजेपी नेताओं के वीडियो सामने आने के कुछ घंटे बाद गोस्वामी की यह टीवी डिबेट हो रही थी।

गौरतलब है कि कांग्रेस द्वारा जारी एक वायरल वीडियो में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को भी 2008 में मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड पाकिस्तानी आतंकी हाफिज सईद को ‘जी’ के रूप में संबोधित करते देखा गया था। वहीं, एक अन्य पुराने वीडियो में बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी का एक पुराना वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह 26/11 आतंकी हमले के मास्टरमाइंड पाकिस्तानी आतंकी हाफिज सईद को ‘श्री हाफिज सईद’ कहते हुए सुनाई दे रहे हैं।

इस बीच भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा का भी एक पुराना वीडियो सामने आया है, जिसमें वह 2001 में भारतीय संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरू के लिए ‘जी’ शब्द लगाकर संबोधित करते हुए नजर आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर पर यह वीडियो काफी वायरल हो रहा है। राहुल गांधी के जवाब में कांग्रेस समर्थक इन तीनों वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर कर बीजेपी से सवाल पूछ रहे हैं।

हालांकि, गोस्वामी ने केवल रविशंकर प्रसाद के वीडियो का ही उल्लेख किया और अन्य दो वीडियो को उजागर नहीं किया। लेकिन गोस्वामी ने अपने डिबेट में यह निष्कर्ष निकालने के लिए पूरी तरह तैयार थे कि बीजेपी मसूद अजहर विवाद पर कांग्रेस पर हमला करने की स्थिति में नहीं है। बीजेपी समर्थक वकील को संबोधित करते हुए, गोस्वामी ने कहा, “मोनिका अरोड़ा, इससे पहले कि मैं गौरव भाटिया के पास जाऊं, कल यह एक बहुत बड़ा मुद्दा बन गया था कि राहुल गांधी ने मसूद अजहर को ‘जी’ कहा है। लेकिन केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद हाफिज सईद ‘हाफिज जी’ कहते हैं।

रविशंकर प्रसाद के वीडियो को लेकर गोस्वामी ने बीजेपी पर कई तंज भरी टिप्पणियां की। इस दौरान ऐसे क्षण भी आए जब उन्होंने विनम्रता से गौरव भाटिया से अनुरोध किया कि वे बालाकोट हवाई हमलों पर कांग्रेस के रुख को सामने लाकर इस विषय को बदलने की कोशिश न करें। गोस्वामी ने कहा, “गौरव, यह बहुत गलत है। विषय को मत बदलो।”

गोस्वामी ने अपनी सामान्य आक्रामकता दिखाए बिना बीजेपी के पाखंड को उजागर करने का एक कठिन संतुलन बनाने के लिए बेताब दिखे। यह उनकी टिप्पणियों में भी देखा गया। जैसा कि उन्होंने कहा कि इस डिबेट में मुझे कहना होगा कि कांग्रेस पार्टी ने आज बराबरी की चोट की है। लड़ाई अभी जारी है। जी Vs जी प्रतियोगिता में। इसका मतलब है; “जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों के घरों पर पत्थर नहीं फेंकते।” बता दें कि इससे पहले एक डिबेट के दौरान गोस्वामी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए बीजेपी पर झूठ की राजनीति करने का आरोप लगाया था।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here