BJP का एजेंट कहे जाने पर अर्नब गोस्वामी ने अपने पैनलिस्ट को बता दिया ‘सूअर’, सोशल मीडिया पर हो रही आलोचना

0

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर के साथ मिलकर अंग्रेजी न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ की स्थापना करने वाले भारत के सबसे विवादास्पद एंकर अर्नब गोस्वामी पिछले कुछ समय से खुलकर बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में उतर आए हैं। गोस्वामी हर रोज अपने शो में किसी ना किसी बहाने सत्तारूढ़ बीजेपी और मोदी सरकार से सवाल ना पूछकर कांग्रेस और राहुल गांधी को कठघरे में खड़ा करते हुए दिखाई देते हैं।

अर्नब गोस्वामी

रिपब्लिक टीवी की स्थापना के बाद से उनके आलोचकों की संख्या में भारी इजाफा हो गया है। पिछले दिनों सीपीआई-एम के एक नेता ने गोस्वामी को लाइव डिबेट के दौरान ही ‘नामर्द’ बता दिया था। वहीं, दूसरी तरफ एक दिन गोस्वामी ने अपना आपा खोते हुए अपने एक पैनलिस्ट को 10 जनपथ (यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी का निवास) का ‘कुत्ता’ बता दिया था। इस बीच अब गोस्वामी ने एक पैनलिस्ट को ‘मिस्टर सूअर’ कहकर संबोधित कर एक नया विवाद खड़ा कर दिया है।

सोशल मीडिया पर गोस्वामी को आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। रिपब्लिक टीवी के संस्थापक को बीजेपी का एजेंट कहे जाने वाले एक प्रतिष्ठित अकादमिक स्वीडन के पैनलिस्ट अशोक स्वेन को गोस्वामी ने ‘मिस्टर सूअर’ (Mr Swine) कहकर संबोधित किया, जिसमें बाद उनकी जमकर आलोचना हो रही है। गोस्वामी ने यह विवादास्पद बयान बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की शिकायत पर गृह मंत्रालय द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की दोहरी नागरिकता को लेकर भेजे गए नोटिस को लेकर डिबेट में दिया।

बता दें कि मंगलवार को गृह मंत्रालय ने एक नोटिस जारी कर राहुल गांधी से कहा कि उनकी नागरिकता की स्थिति को लेकर दी गई शिकायत पर वे एक पखवाड़े में अपनी “तथ्यात्मक स्थिति” स्पष्ट करें। गृह मंत्रालय ने एक पत्र में कहा है कि उसे बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का एक प्रतिवेदन मिला है, जिसमें यह कहा गया है कि बैकऑप्स नाम की एक कंपनी को ब्रिटेन में 2003 में पंजीकृत किया गया था जिसके निदेशकों में राहुल गांधी भी थे।

बीजेपी का एजेंट कहे जाने से परेशान गोस्वामी ने अपने पैनलिस्ट अशोक स्वेन को दो बार ‘मिस्टर सूअर’ के रूप में संबोधित किया। अर्नब के इन शब्दों से आहत अशोक स्वेन ने ट्विटर पर डिबेट का वीडियो शेयर करते हुए लिखा है यह वही (वीडियो) है जो कल रात अर्नब को पागल बना दिया था। मैंने उन्हें राहुल गांधी की नागरिकता के बारे में एक फेक न्यू पर बहस करने के लिए बीजेपी एजेंट कहा था!”

स्वेन ने कहा कि उन्होंने रिपब्लिक टीवी पर जाना बंद कर दिया था, लेकिन चैनल ने उन्हें मंगलवार को फिर से बुलाया और वह सहमत हो गए, क्योंकि वह गोस्वामी के चेहरे पर सच्चाई बताना चाहते थे। अर्नब मुझे पिछले साल अपने डिबेट में बहस के लिए आमंत्रित कर रहे थे, मैं वहां सिर्फ उन्हें बताने के लिए जाता हूं कि मैं उनके बारे में क्या सोचता हूं। वहीं, अर्नब के इस शर्मनाक शब्द पर दक्षिणपंथी वेबसाइट ओपइंडिया की नूपुर शर्मा ने मजाकिया अंदाज में ट्वीट कर तंज कसा है।

गौरतलब है कि अर्नब गोस्वामी ने एनडीए के राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर की मदद से मई 2017 को अपने नए इंग्लिश चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ को लॉन्च किया था, जिसके बाद से ही वह लगातार विवादों में हैं। अभी हाल ही में उन्होंने ‘रिपब्लिक भारत’ के नाम से एक हिंदी चैनल भी लॉन्च किया है। अर्नब को उनके आलोचक बीजेपी समर्थक करार देते हैं। पात्रा को अर्नब के शो में हमेशा बहस करते हुए देखा जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here