विरोध की लहर अंगुलियों को नई ताकत देगी, इंडिया फाउंडेशन कॉनक्‍लेव में बोले अरनब गोस्वामी

0

अर्नब गोस्‍वामी ने टाइम्‍स नाऊ से अपने इस्तीफे के बाद से अभी तक मीडिया से सीधे संवाद नहीं किया हैं, लेकिन इंडिया फाउंडेशन की ओर से आयोजित कॉनक्‍लेव में बोलते हुए अर्नब ने अपनी भावी योजनाओं का खुलासा किया।

गोवा में भाजपा नेता राम माधव और राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के बेटे शौर्य डोभाल के इंडिया फाउंडेशन की ओर से इस कॉनक्‍लेव का आयोजन कराया गया था जिसमें अर्नब ने बताया कि वह पत्रकारिता के केंद्र को दिल्‍ली से बाहर ले जाने की इच्‍छा रखते हैं।
पत्रकारिता को फोकस करते हुए ही उन्होंने अपनी सारी बात रखी और बताया कि वे 2003 में पत्रकारिता की स्थिति से इतने दुखी हो गए थे इस पेशे को छोड़ना चाहते थे।
इंडिया
janta ka reporter
जबकि उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि उनका इस बात से दक्षिणपंथी राजनीति से कोई लेना देना नहीं है। जनसत्ता की खबर के अनुसार, वे आगे लव जिहाद जैसे मुद्दों पर सवाल करना चाहेंगे जबकि पत्रकारिता को लेकर उनका खुद का मानना है कि विरोध की प्रक्रिया के दौरान पैसे की ताकत का एकाधिकार खत्‍म किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि पैसा आपको संपत्ति दे सकता है लेकिन खबर को रखने की ताकत नहीं देता।
नये मीडिया पर अपनी बात रखते हुए अर्नब ने कहा कि आने वाला वक्‍त इंडिपेंडेंट मीडिया का होगा।  भारत में 46 करोड़ इंटरनेट यूजर हैं। विरोध की नई लहर अंगुलियों को नई ताकत देगी। आगे उन्‍होंने कहा, ”हम सबसे बड़े विरोधी मत के किनारे पर हैं। इसे खुली बांहों के साथ स्‍वीकार कीजिए।
हम वैश्विक टीवी को नई परिभाषा देंगे। हमारा विरोधी स्‍वर केवल भारत तक सीमित नहीं रहेगा।” जबकि अपने बारें में बोलते हुए उन्होंने कहा कि ”किसी और की बात मानते रहना मेरा किरदार नहीं है। इंडिपेंडेंट मीडिया को लेकर जो छवि है हम उसे बदल देंगे। देश में जिस तरह से पत्रकारिता होती है मैं उसके खिलाफ विरोध करने जा रहा हूं।”
पूर्व प्रधानमंत्री और यूपीए शासन के दौर में अपने एक अनुभव को साझा करते हुए उन्होंने बताया कि वहां कई एडिटर्स ने पीएम से कड़ा सवाल नहीं किया। जब उन्‍होंने पीएम से सवाल किया तो उनके मीडिया सलाहकार हरीश खरे ने बीच में टोकते हुए कहा कि यह प्रधानमंत्री से पूछताछ का समय नहीं है। इस पर पीएम ने लिखित जवाब दिया था। अभी ये पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हुआ है कि अर्नब अपना नया मीडिया स्टार्टअप किस तरह लेकर आने वाले है लेकिन वे बदलाव लाने के इच्छुक है इसका संकेत उन्होंने दे दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here