सुजॉय घोष के बाद अब ‘अलीगढ़’ के लेखक अपूर्व असरानी ने भी IFFI की जूरी से दिया इस्तीफा

0

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव की पेनारॉमा श्रेणी से दो फिल्मों को हटाने के फैसले के बाद उठे विवाद के बाद पटकथा लेखक अपूर्व असरानी ने भी बुधवार (15 नवंबर) को घोषणा की कि वह निर्णायक समिति के सदस्य पद से इस्तीफा दे रहे हैं।

फोटो: फेसबुक वॉल से

बता दें कि इससे पहले, कल (14 नवंबर) फिल्मकार सुजॉय घोष ने कहा था कि वह इंडियन पेनारॉमा की निर्णायक समिति का अध्यक्ष पद छोड़ रहे हैं। असरानी ने कहा कि उनकी अंतरात्मा उन्हें इस महोत्सव में शामिल होने की इजाजत नहीं दे रही है। यह फिल्म महोत्सव 20 से 28 नवंबर को गोवा में आयोजित होने वाला है।

न्यूज एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक असरानी ने एक बयान में कहा कि मैं निर्णायक समिति के अध्यक्ष के साथ हूं। कुछ बेहद खरी और ईमानदार फिल्मों के प्रति हमारी भी कुछ जिम्मेदारी है और कहीं न कहीं उसे निभाने में हम असफल हुए हैं। मेरा जमीर गोवा में होने वाले महोत्सव में शामिल होने की मुझो इजाजत नहीं देगा।

‘अलीगढ़’ के पटकथा लेखक ने पुष्टि की है कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया है, लेकिन कहा कि वह इसके बारे में ज्यादा बात नहीं करना चाहते। सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने 13 सदस्यीय निर्णायक समिति की सिफारिशों को खारिज करते हुए मलयालम फिल्म एस दुर्गा और मराठी फिल्म न्यूड को भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के 48वें संस्करण से हटा दिया था।

बता दें कि इससे पहले गोवा में आयोजित होने वाले 48वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के इंडियन पैनोरमा की जूरी के प्रमुख सुजॉय घोष ने फिल्म ‘सेक्सी दुर्गा’ और ‘न्यूड’ को महोत्सव से बाहर करने के फैसले के बाद पद से इस्तीफा दे दिया था। ‘सेक्सी दुर्गा’ सिनेमाघरों में ‘एस दुर्गा’ के नाम से रिलीज होगी।

यह मलयालम फिल्म है। इसके निर्देशक सनल कुमार शशिधरन हैं। कल ‘एस दुर्गा’ के निर्देशक सनल कुमार शशिधरन ने मंत्रालय और आईएफएफआई के अधिकारियों के खिलाफ केरल उच्च न्यायालय में एक याचिका दाखिल की थी। वहीं, ‘न्यूड’ एक मराठी फिल्म है जिसे राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता रवि जाधव ने डायरेक्ट किया है।

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here