BCCI प्रमुख के बयान से पाक क्रिकेट जगत खफा, कहा-जब संबंध अच्‍छे थे तब भी तो नहीं खेला भारत

0

पाकिस्तान क्रिकेट जगत ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष अनुराग ठाकुर के बयान को बकवास बताते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच जब संबंध बेहतर भी थे तब भी भारत पाकिस्तान के खिलाफ द्विपक्षीय सीरीज खेलने से बच रहा था. भारत में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के शीर्ष नेताओं में शामिल ठाकुर ने कहा था कि पाकिस्तान से क्रिकेट खेलने का सवाल ही नहीं उठता.

पूर्व कप्तान मोहम्मद यूसुफ ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘मुझे समझ में नहीं आता कि वह क्या कहना चाहते हैं. पिछले आठ साल में जब संबंध बेहतर थे तब भी भारत हमारे साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलने से बच रहा था.’ पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है लेकिन एक शीर्ष अधिकारी ने स्वीकार किया कि ठाकुर के बयान से वे हैरान हैं.इस अधिकारी ने कहा, ‘यह बीसीसीआई अध्यक्ष का पूरी तरह से राजनीतिक बयान है. हम निराश हैं क्योंकि भारत के साथ क्रिकेट संबंध सामान्य करने के लिए हम लंबे समय से कड़ा प्रयास कर रहे हैं और हम हमेशा खेल और राजनीति को अलग रखने में विश्वास रखते हैं.’ यूसुफ ने साथ ही कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ठाकुर के बयान पर ध्यान देना चाहिए.

Also Read:  It will be either Champions Trophy or IPL in 2017: Anurag Thakur

यूसुफ ने कहा, ‘आईसीसी कहता रहता है कि वह सदस्य बोर्डों में राजनीति या सरकारी हस्तक्षेप को बर्दाश्त नहीं करेगा और बीसीसीआई अध्यक्ष राजनीतिक बयान दे रहे हैं वे या तो बीजेपी नेता के रूप में बोलें या फिर बीसीसीआई अध्यक्ष के रूप में.’पूर्व कप्तान राशिद लतीफ ने कहा कि ठाकुर का बयान कोई मायने नहीं रखता क्योंकि भारत पहले ही स्पष्ट कर चुका है कि वह पाकिस्तान के खिलाफ खेलना नहीं चाहता. लतीफ ने कहा कि कम से कम अब पीसीबी को पता है कि बीसीसीआई से रिश्तों को लेकर वह कहां खड़ा है.

Also Read:  Lodha panel approaches Supreme Court, wants punishment for BCCI bosses

पूर्व टेस्ट लेग स्पिनर अब्दुल कादिर ने कहा कि पाकिस्तान ने हमेशा भारत के साथ क्रिकेट को लेकर राजनीति को दूर रखा है लेकिन अब बीसीसीआई ऐसी संस्था बन गया है जिसमें राजनीतिज्ञों का दबदबा है. कादिर ने कहा, ‘‘वे वर्षों से हमारे साथ नहीं खेले हैं तो फिर इस बयान का क्या मतलब है. मुझे लगता है कि पीसीबी को किसी भी आईसीसी प्रतियोगिता के ग्रुप मैचों में भारत से खेलने पर गंभीरता से विचार करना चाहिए.’ पीसीबी ने हाल में कहा था कि बीसीसीआई यूएई में होने वाली महिला द्विपक्षीय सीरीज से यह कहकर हट गया कि उसे श्रृंखला खेलने के लिए सरकार से स्वीकृति नहीं मिली है.

Also Read:  मैं वहां नहीं होना चाहती जहां मैं 10 साल पहले थी- दीपिका पादुकोण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here