BCCI प्रमुख के बयान से पाक क्रिकेट जगत खफा, कहा-जब संबंध अच्‍छे थे तब भी तो नहीं खेला भारत

0

पाकिस्तान क्रिकेट जगत ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष अनुराग ठाकुर के बयान को बकवास बताते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच जब संबंध बेहतर भी थे तब भी भारत पाकिस्तान के खिलाफ द्विपक्षीय सीरीज खेलने से बच रहा था. भारत में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के शीर्ष नेताओं में शामिल ठाकुर ने कहा था कि पाकिस्तान से क्रिकेट खेलने का सवाल ही नहीं उठता.

पूर्व कप्तान मोहम्मद यूसुफ ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘मुझे समझ में नहीं आता कि वह क्या कहना चाहते हैं. पिछले आठ साल में जब संबंध बेहतर थे तब भी भारत हमारे साथ द्विपक्षीय सीरीज खेलने से बच रहा था.’ पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है लेकिन एक शीर्ष अधिकारी ने स्वीकार किया कि ठाकुर के बयान से वे हैरान हैं.इस अधिकारी ने कहा, ‘यह बीसीसीआई अध्यक्ष का पूरी तरह से राजनीतिक बयान है. हम निराश हैं क्योंकि भारत के साथ क्रिकेट संबंध सामान्य करने के लिए हम लंबे समय से कड़ा प्रयास कर रहे हैं और हम हमेशा खेल और राजनीति को अलग रखने में विश्वास रखते हैं.’ यूसुफ ने साथ ही कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ठाकुर के बयान पर ध्यान देना चाहिए.

Also Read:  BCCI exposes DDCA bosses: Says it gave Rs 2.81 crore for Kotla match
Congress advt 2

यूसुफ ने कहा, ‘आईसीसी कहता रहता है कि वह सदस्य बोर्डों में राजनीति या सरकारी हस्तक्षेप को बर्दाश्त नहीं करेगा और बीसीसीआई अध्यक्ष राजनीतिक बयान दे रहे हैं वे या तो बीजेपी नेता के रूप में बोलें या फिर बीसीसीआई अध्यक्ष के रूप में.’पूर्व कप्तान राशिद लतीफ ने कहा कि ठाकुर का बयान कोई मायने नहीं रखता क्योंकि भारत पहले ही स्पष्ट कर चुका है कि वह पाकिस्तान के खिलाफ खेलना नहीं चाहता. लतीफ ने कहा कि कम से कम अब पीसीबी को पता है कि बीसीसीआई से रिश्तों को लेकर वह कहां खड़ा है.

Also Read:  सीमापार बढ़ते तनाव पर महबूबा मुफ्ती ने कहा- जम्मू-कश्मीर के लिए पैदा हो सकती है बड़ी आपदा

पूर्व टेस्ट लेग स्पिनर अब्दुल कादिर ने कहा कि पाकिस्तान ने हमेशा भारत के साथ क्रिकेट को लेकर राजनीति को दूर रखा है लेकिन अब बीसीसीआई ऐसी संस्था बन गया है जिसमें राजनीतिज्ञों का दबदबा है. कादिर ने कहा, ‘‘वे वर्षों से हमारे साथ नहीं खेले हैं तो फिर इस बयान का क्या मतलब है. मुझे लगता है कि पीसीबी को किसी भी आईसीसी प्रतियोगिता के ग्रुप मैचों में भारत से खेलने पर गंभीरता से विचार करना चाहिए.’ पीसीबी ने हाल में कहा था कि बीसीसीआई यूएई में होने वाली महिला द्विपक्षीय सीरीज से यह कहकर हट गया कि उसे श्रृंखला खेलने के लिए सरकार से स्वीकृति नहीं मिली है.

Also Read:  VIDEO: रेयान इंटरनेशनल की प्रिंसिपल और अंजू मेम ने हत्या के पीछे बताई ब्लू व्हेल गेम की वजह, प्रिंसिपल हुई निलंबित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here