कश्मीर पर टिप्पणी को लेकर हसन मिन्हाज से सवाल पूछ खुद ट्रोल हो गए अनुपम खेर, ‘कनाडाई नागरिक’ अक्षय कुमार को लेकर पूछे सवाल

0

मोदी सरकार ने जब से जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाया है, तब से ही चर्चाओं का बाजार गर्म है। इसी बीच, जम्मू-कश्मीर के माहौल और वहां की व्यवस्था पर भारतीय-अमेरिकी स्टैंडअप कॉमेडियन हसन मिन्हाज ने भी अपनी राय पेश की है, जिसकी काफी चर्चा हो रही है। हसन के बयान पर बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर की भी अपनी प्रतिक्रिया दी, जिसको लेकर वो सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए। सोशल मीडिया पर उनकी जमकर आलोचना हो रहीं है। कई लोगों ने उनसे ‘कनाडाई नागरिक’ अभिनेता अक्षय कुमार को लेकर सवाल पूछे।

अनुपम खेर

दरअसल, हास्य कलाकार हसन मिन्हाज ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में वह देशभक्ति और कश्मीरी पंडितो पर बात करते नजर आ रहे हैं। वीडियो में हसन मिनाज कश्मीरी लोगों की चिंता जाहिर करते हुए कहा कि वह दो देशों के बीच केवल एक राजनीतिक मोहरा बन चुका है। कश्मीर को लेकर हसन मीनाज का यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। हसन मिनाज के इस वीडियो को देखने के बाद बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अनुपम खेर ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है।

वीडियो में हसन मिन्हाज किसी शो में मौजूद दिखाई दे रहे हैं, जहां उन्होंने भारत की आजादी के साथ ही कश्मीर की आजादी पर भी अपनी राय पेश की। वीडियो में हसन मिनाज ने कहा, “यह स्वतंत्रता दिवस है, मतलब भारत को स्वतंत्र हुए 72 साल हो गए हैं। लेकिन जब भी मैं कश्मीर के बारे में सोचता हूं, वहां अनुच्छेद 370 के साथ जो कुछ हो रहा है। कश्मीर केवल भारत और पाकिस्तान की लड़ाइयों में फंस गया है। वह इन दो देशों का राजनीतिक मोहरा बन गया है। मेरा ख्याल है कि इस स्वतंत्रता दिवस पर हमें कश्मीर के लोगों के बारे में भी सोचना चाहिए। वहां 80 लाख से भी ज्यादा आबादी मौजूद है लेकिन संचार की कोई सुविधा मौजूद नहीं है। ऐसे में उन माता-पिता के बारे में सोचो जो अपने बच्चों से बिल्कुल भी बात नहीं कर पा रहे हैं, परिवार यह तक नहीं जानते कि वह ठीक हैं या नहीं।”

वीडियो में हसन ने आगे कहा, “यह बहुत ज्यादा डराने वाला है और मैं डर रहा हूं क्योंकि चीजें और बदतर होती जा रही हैं। हम इस स्वराज्य में ही कटाव देख रहे हैं। यह सब कश्मीर के साथ हो हॉन्ग कॉन्ग में भी हो रहा है। सबसे रोचक बात तो यह है कि यह दोनों ही अपने अधिकारों के लिए लड़ रहे हैं। इसलिए भारत के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मैं कश्मीर के बारे में सोच रहा हूं, जो अपनी ही आजादी के लिए लड़ रहा है।”

उनके इस वीडियो को देखने के बाद अनुपम खेर ने ट्विटर पर हसन को टैग करते हुए लिखा, “प्रिय हसन मिनाज!! मुझे आपके वीडियो काफी पसंद हैं। खुशी महसूस करें कि एक भारत में जन्मा महान कॉमेडियन दर्शकों के बीच चर्चित है। कश्मीर की चिंता से जुड़ा आपका नया वीडियो देखा। कश्मीर के बारे में और जानकर अच्छा लगा। कश्मीर के बारे में एक और सच्चाई देखना पसंद करेंगे। यह हिंदी में है। आशा है आप इसे समझेंगे। धन्यवाद।”

वीडियो में अनुपम खेर ने कश्मीरी पंडितों को लेकर अपना पक्ष रखा है। उन्होंने कहा कि मैं कश्मीरी पंडित हूं। भारतीय मूल्यों के प्रति विश्वास रखने वाला, शांतिप्रिय, धर्मनिरपेक्ष, अहिंसक और कानून का पालन करने वाला हूं। मुझे 26 साल पहले अपना ही घर छोड़ने को मजबूर होना पड़ा। 1989 में आतंकी पूरे कश्मीर में फैले थे। राज्य सरकार ने अपनी ही जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ लिया था। उस समय वहां कोई प्रशासन और कानून नहीं था।

अनुपम खेर ने मिन्हाज की अमेरिकी राष्ट्रीयता को उजागर करने की मांग करते हुए कहा कि उन्हें कश्मीर पर भारत सरकार की नीति पर सवाल उठाने का कोई वैध अधिकार नहीं है। अपने इस ट्वीट को लेकर अनुपम खेर सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए।

कई ट्विटर यूजर्स ने उन्हें यह कहते हुए ट्रोल करना शुरू कर दिया कि जब वह हिमाचल प्रदेश में पैदा हुए थे तो उन्हें कश्मीरी पंडितों के बारे में क्या व्यापार करना था। अन्य लोगों ने उनसे पूछा कि जब अभिनेता कनाडाई नागरिक’ थे, तो उन्होंने देशभक्ति पर व्याख्यान देने के लिए अक्षय कुमार की आलोचना क्यों नहीं की।

देखिए कुछ ऐसे ही ट्वीट

गौरतलब है कि, केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को समाप्त करने और जम्मू-कश्मीर तथा लद्दाख नाम से दो केंद्र शासित प्रदेश बनाने के फैसले से पहले चार अगस्त की आधी रात से ही राज्य में मोबाइल फोन, इंटरनेट, लैंडलाइन सेवाओं सहित टेलीफोन सेवाएं स्थगित कर दी गई थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here