VIDEO: प्रवासी मजदूरों पर कविता शेयर कर बुरी तरह ट्रोल हुए अभिनेता अनुपम खेर

0

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्र में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के समर्थन में हमेशा खड़े दिखाई देने वाले बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता अनुपम खेर ने प्रवासी मजदूरों के दुख को एक कविता के जरिए साझा करने की कोशिश की। इसके लिए उन्होंने सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी शेयर किया। हालांकि, अपने इस वीडियो को लेकर अनुपम खेर सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए, लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया।

फाइल फोटो

दरअसल, कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए लागू किए गए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बाद से घर लौटने वाले प्रवासी मजदूरों का सड़कों पर हुजूम उमड़ पड़ा। लॉकडाउन मजदूरों के लिए परेशानियों का सबब बनता जा रहा है, घर वापसे जाते समय मजदूर तमाम तरह की दिक्कतों का सामने करने को मजबूर हैं। इस बीच, अनुपम खेर ने ऐसे ही मजदूरों के दुख को सामने लाने के लिए एक वीडियो शेयर किया, इसमें वह कविता पढ़ते दिखते हैं।

कविता में उन्होंने लिखा है, हो गया मजबूर इंसान दाने-दाने के लिए, चार कंधे भी नहीं अर्थी उठाने के लिए। छोड़कर आए पिछड़ा बोलकर जो गांव को, किस कदर मजबूर हैं वो गांव जाने के लिए। वे हमें पानी पिलाने को भी राजी नहीं, खून बनाया है हमने जिनके कारखाने के लिए, मौत बस तू ही बची है अब आजमाने के लिए।

एक मिनट 13 सेकंड के इस वीडियो में अनुपम खेर ने यूं तो प्रवासियों के दुख को शब्दों में बहुत सही तरीके से पेश किया है। लेकिन अपने इस वीडियो को लेकर अनुपम खेर सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए, लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया।

एक यूजर ने लिखा, “सरकार से सवाल करता कि उसने क्या किया इन गरीब मज़दूरों के लिए, तब लोगों को लगता कि चिन्ता है तुझे इन ग़रीबों की। यें तो ढोंग कर रहा तूं।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “चंदा मामा आप पोयम और शायरी करके बस ग़ालिब बनो उससे ज़्यादा कुछ नही कर सकते।”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “आप रहने ही दें…. यह अभिनय का समय नहीं है…. आपकी छपास और दिखास की चाहत आपकी छवि को धूल कर रही है। आपको विपश्यना की घोर आवश्यकता है। चुप रहने की कृपा करें!” एक अन्य यूजर ने लिखा, “सर जी सरकार से पूछिए ,वंदे भारत इनके लिए भी।” बता दें कि, इसी तरह तमाम यूजर्स अभिनेता अनुपम खेर के इस ट्वीट पर अपन प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

देखें कुछ ऐसे ही ट्वीट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here