#MeToo: यौन उत्पीड़न के आरोप लगने के बाद अनु मलिक को ‘इंडियन आइडल 10’ शो से किया गया बाहर

0

देश भर में चल रहे ‘मी टू’ अभियान के तहत हर रोज चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। महिलाओं के इस अभियान का बड़े पैमाने पर समर्थन भी मिल रहा है। इस ‘मी टू’ मुहिम में हर रोज नए-नए नाम उभरकर सामने आने का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है।

‘मी टू’ अभियान के तहत सिंगर श्वेता पंडित और सोना महापात्रा के बाद दो अन्य महिलाओं ने सिंगर-म्यूजिक डायरेक्टर व रियलिटी शो ‘इंडियन आइडल सीजन 10’ के जज अनु मलिक पर सेक्शुअल हैरासमेंट के आरोप है। हालांकि, अनु मलिक ने खुद इन आरोपों का खंडन किया है।

इंडियन आइडल
फाइल फोटो: अनु मलिक

वहीं, अब खबर है कि अनु मलिक को इंडियन आइडल शो के मेकर्स ने जज की कुर्सी से हटा दिया है। समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन ने कहा कि अनु मलिक अब इंडियन आइडल शो के हिस्सा नहीं है। शो अपने नियोजित कार्यक्रम को जारी रखेगा और हम इंडियन संगीत में कुछ सबसे बड़े नामों को आमंत्रित करेंगे।

बता दें कि, इससे पहले न्यूज़ वेबसाइट पिंकविला की एक रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया था कि विशाल ददलानी और नेहा कक्कड़ के साथ इस शो को जज कर रहे अनु मलिक को जज के पद से हटने के लिए कह दिया गया है।

सोनी चैनल ने यौन उत्पीड़न से संबंधित मामलों को बहुत गंभीरता से लिया है। ऐसे में आंतरिक रूप से सलाह करने के बाद ये फैसला लिया गया है कि जब तक इस मामले में पूरी पड़ताल नहीं हो जाती शो से अनु मलिक गायब रहेंगे। सोर्स ने बताया था कि अनु मलिक शो के बाकी एपिसोड्स की शूटिंग नहीं करेंगे।

बता दें कि सिंगिंग रियल्टी शो इंडियन आइडल के सीजन-10 में नेहा कक्कड़ और विशाल ददलानी के साथ अनु कपूर भी बतौर जज नजर आ रहे हैं। अब तक इंडियन आइडल के ज्यादातर सीजन में अनु मलिक जज का पद संभालते नजर आए थे।

सोना महापात्रा और श्वेता पंडित के अलावा हाल ही में दो और महिलाओं ने अनु के खिलाफ सेक्शुअल हैरासमेंट के आरोप लगाते हुए कहा था कि अनु मलिक ने उन्हें घर पर प्रताड़ित किया था। श्वेता पंडित ने अनु मलिक पर आरोप लगाया था कि जब वह नाबालिग थीं तो मलिक ने उनका उत्पीड़न किया था।

सिंगर श्वेता पंडित ने ट्विटर पर एक लंबी पोस्ट में मलिक पर बच्चों के प्रति यौन आकर्षण रखने और यौन-उत्पीड़क होने का आरोप लगाते हुए कहा कि संगीतकार ने उनके साथ दुर्व्यवहार तब किया जब वह हिन्दी म्यूजिक इंडस्ट्री में नई थी।

आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए अनु मलिक के वकील ने कहा था कि, ‘मेरे मुवक्किल के खिलाफ लगे आरोप पूरी तरह गलत और आधारहीन हैं।’ उन्होंने कहा, अनु मलिक ‘मी टू’ अभियान का सम्मान करते हैं लेकिन इसका इस्तेमाल चरित्र हनन के मकसद से करना बेतुका है। बता दें कि बीते सप्ताह एक अन्य गायिका सोना महापात्रा ने भी अनु मलिक पर यौन शोषण के आरोप लगाते हुए उन्हें ‘आदतन यौन शिकारी’ बताया था। मलिक इस आरोप का भी खंडन कर चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here