VIDEO: एंटिगा के प्रधानमंत्री ने मेहुल चोकसी को बताया धोखेबाज, कहा- भारतीय जांच एजेंसियां पूछताछ के लिए स्वतंत्र

0

एंटिगुआ और बारबूडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने कहा है कि पंजाब नेशनल बैंक (PNB) घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी को भारत तब प्रत्यर्पित कर दिया जाएगा, जब उसकी याचिकाओं का निपटारा हो जाएगा। साथ ही उन्होंने मेहुल चोकसी को धोखेबाज़ भी बताया है।

गैस्टन ब्राउन
फाइल फोटो: मेहुल चोकसी

गैस्टन ब्राउन ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, ‘मुझे पर्याप्त जानकारी मिली है कि मेहुल चोकसी एक धोखेबाज (क्रुक) हैं। उनका मामला अदालत के पास है। अभी तो हम कुछ नहीं कर सकते, लेकिन इतना कहना चाहता हूं कि हमारा मेहुल चोकसी को एंटीगा और बारबुडा में रखने का इरादा नहीं है।’ ब्राउन ने बताया कि कैसे मेहुल चोकसी के कारण वहां की नागरिकता लेने की उनके देश की स्कीम-सिटिज़नशिप बाय इनवेस्टमेंट प्रोग्राम- को नुकसान पहुंचा है। मेहुल चोकसी ने इसी प्रोग्राम के ज़रिए ही एंटीगा की नागरिता प्राप्त की थी।

ब्राउन ने कहा कि भारतीय जांच एजेंसियां एंटीगा आकर मेहुल चोकसी के साथ पूछताछ करने के लिए स्वतंत्र है और मेहुल चोकसी को अपने देश जाना ही होगा। उन्होंने कहा कि भारतीय अधिकारियों ने अभी हमें सूचित नहीं किया है लेकिन ये स्पष्ट है कि चोकसी को वापस जाना होगा।

बता दें कि, मेहुल चोकसी और उसका भांजा नीरव मोदी साल भर पहले देश छोड़कर भाग गए थे। ये मामला 2018 में सामने आया था। दोनों 13,500 करोड़ रुपये के पीएनबी धोखाधड़ी मामले में मुख्य आरोपी हैं। चोकसी को एंटीगा और बारबूडा ने इस साल के प्रारंभ में नागरिकता दे दी थी।

बता दें कि, इंटरपोल ने दो अरब डॉलर के पीएनबी घोटाला मामले में मुख्य आरोपी नीरव मोदी के सौतेले भाई नेहल मोदी के खिलाफ इसी रेड कॉर्नर नोटिस (आरसीएन) जारी किया है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) धनशोधन मामले की जांच कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here