PMC बैंक घोटाला: एक और खाताधारक की हार्ट अटैक से मौत

0

घोटाले में घिरे पंजाब एंड महाराष्ट्र को-आपरेटिव (पीएमसी) बैंक के एक और खाताधारक की हार्ट अटैक से मौत की बात सामने आई है। इससे पहले भी पीएमसी बैंक के दो और खाताधारक की हार्ट अटैक से मौत गई थी है।

हार्ट अटैक
फाइल फोटो: सोशल मीडिया

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, इस खाताधारक का नाम मुरलीधर धारा (Muralidhar Dhara) है। मुरलीधर धारा की शुक्रवार को दिल का दौरा पड़ने के कारण मौत हो गई। गौरतलब है कि, इससे पहले इसी बैंक के दो और खाताधारकों संजय गुलाटी तथा फत्तेमल पंजाबी की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो चुकी है, जो बैंक में जमा अपने पैसों को लेकर बेहद चिंतित थे।

PMC खाताधारकों की नकदी निकालने पर रोक हटाने की यचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

वहीं दूसरी तरफ पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक में घोटाले के बाद खातों से पैसे निकालने पर लगी रोक के खिलाफ दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई से इंकार कर दिया है। उच्चतम न्यायालय ने पीएमसी बैंक से नगदी निकालने पर भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से लगाई गई रोक हटाने की मांग कर रहे पीएमसी खाताधारकों की याचिका पर सुनवाई करने से शुक्रवार को इनकार कर दिया।

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुतताबिक, प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई वाली पीठ ने कहा, ‘‘हम अनुच्छेद 32 (रिट अधिकार क्षेत्र) के तहत इस याचिका की सुनवाई नहीं करना चाहते। याचिकाकर्ता उचित राहत के लिए संबंधित उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटा सकते हैं।’’ सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि सरकार इस स्थिति की गंभीरता से परिचित है और प्रवर्तन निदेशालय दोषी के खिलाफ उचित कार्रवाई कर रहा है।

याचिकाकर्ता बेजोन कुमार मिश्रा की ओर से पेश हुए वकील शशांक सुधी ने कहा कि उन्होंने पंजाब एवं महाराष्ट्र सहकारी बैंक के 500 खाताधारकों की ओर से याचिका दायर की है जिसमें नकदी निकालने पर आरबीआई की ओर से लगाई रोक को हटाने का अनुरोध किया गया है।

बता दें कि, बैंक के कुछ अधिकारियों पर फर्जी तरीके से कर्ज बांटने के लिए निजी कंपनी एचडीआईएल के साथ साठगांठ करने का आरोप है। इससे बैंक को 4,355 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। अब हजारों खाताधारक अपने पैसे निकाल पाने में असमर्थ हैं। पीएमसी बैंक के डूबने की खबरें फैलते ही लोग पैसे निकालने के लिए बैंक में उमड़ पड़े है। पंजाब एंड महाराष्ट्र को ऑपरेटिव बैंक में ग्राहकों का 11500 करोड़ रुपया जमा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here