पश्चिम बंगाल में बिजली खंभे से लटका मिला एक और BJP कार्यकर्ता का शव, पार्टी ने 12 घंटे के बंद का किया आह्वान

0

पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के बाद राजनीतिक हत्याएं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले में अठारह वर्षीय बीजेपी कार्यकर्ता त्रिलोचन महतो का शव पेड़ से लटका हुआ मिलने के तीन दिन बाद शनिवार (2 जून) सुबह एक और व्यक्ति का शव बरामद किया गया है। इस शव की पहचान 32 साल के दुलाल दास के तौर पर की गई है जिनके बारे में कहा जा रहा है कि वो भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के एक सक्रिय कार्यकर्ता थे।

photo: PTI

दुलाल कुमार का शव एक विद्युत पारेषण टॉवर से लटका मिला। इससे पहले बुधवार को बलरामपुर इलाके में ही एक अन्य भाजपा कार्यकर्ता, 20 साल के त्रिलोचन महतो का शव भी पेड़ से लटका मिला था। अपने दो नौजवान कार्यकर्ताओं की हत्या के लिए भाजपा ने सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आरोप लगाया कि यह ‘राजनीतिक हत्या’ है। इस घटना से आक्रोशित स्थानीय लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। इस बीच पश्चिम बंगाल सरकार ने पुरुलिया के पुलिस अधीक्षक जॉय बिस्वास का स्थानांतरण कर दिया।

इस घटना से दो दिन पहले त्रिलोचन महतो (20) का शव 30 मई को पुरुलिया के बलरामपुर में एक पेड़ से लटका मिला था और भाजपा ने दावा किया था कि तृणमूल ने उसके कार्यकर्ता महतो की हत्या की है। तृणमूल कांग्रेस ने इन आरोपों से इनकार किया और निराधार बताया। भाजपा ने आरोप लगाया कि ये मौतें ‘राजनीतिक हत्याएं’ है। उन्होंने घटनाओं की सीबीआई जांच की मांग की।

कथित हत्याओं से तृणमूल कांग्रेस और भाजपा एक बार फिर आमने-सामने आ गए हैं। घटना के बाद स्थानांतरित किए गए पुलिस अधीक्षक जॉय बिस्वास ने बताया कि अब तक इस घटना के संबंध में किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। एडीजी (कानून व्यवस्था) अनुज शर्मा ने बताया, बंगाल सरकार ने महतो की मौत के मामले में आज आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) से जांच कराने के आदेश दिए हैं। मौत से भड़के ग्रामीणों ने बलरामपुर पुलिस थाने के सामने प्रदर्शन किया।

12 घंटे के बंद का किया आह्वान

दो कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में बीजेपी ने आज यानी रविवार को भाजपा ने 12 घंटे के पुरलिया बंद का आह्वान किया है। पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने बंगाल की ममता सरकार को नाकाम करार करते हुए कहा कि वह दोनों व्यक्ति पार्टी के कार्यकर्ता थे और यह दोनों ही राजनीतिक हत्याएं हैं। पार्टी चाहती है कि इस मामले की जांच एनएचआरसी द्वारा करवाई जाए जिसके बाद राज्य सरकार ने सीआईडी को घटना की जांच सौंप दी।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी सरकार राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रख पाने में नाकाम रही है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि “मैं शोकग्रस्त परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। मैं लाखों बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ दुलाल दास के परिवार का दुख साझा करता हूं। भगवान उनके परिवार को इस हानि का सामना करने की ताकत दें।”

इस घटना के बाद बीजेपी के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया है, ”हम शर्मिंदा हैं! मैंने कल रात अनुज शर्मा एडीजी लॉ एंड ऑर्डर, पश्चिम बंगाल से बहुत देर बात की। बलरामपुर के दुलाल की जान खतरे में है बताते हुए, उनसे किसी भी हाल में उसे बचाने के लिए अनेक बार कहा! उन्होंने कहा था, पुलिस पूरी ताकत से कोशिश कर रही है और मैं स्वयं पूर्ण प्रयास करूंगा।”

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here