अन्‍ना हज़ारे ने कहा अच्छा हुआ उन्होंने अरविन्द केजरीवाल का साथ छोड़ दिया, वरना उनकी भी दुर्दशा होती

3

सामाजिक कार्यकर्ता भ्रष्टाचार विरोधी योद्धा अन्‍ना हजारे ने कहा कि उन्हें ख़ुशी है कि अरविन्द केजरीवाल उनसे अलग हो गए।

जनसत्ता की एक खबर के अनुसार, अन्‍ना ने अपने जीवन पर बन रही फिल्‍म ‘अन्‍ना’ के पोस्‍टर लॉन्‍च के मौके पर यह बयान दिया।

फिल्‍म का निर्माण शशांक उदापुरकर कर रहे हैं। इस मौके पर अन्‍ना ने कहा, ”यह अच्‍छा हुआ कि मैंने अरविंद का साथ छोड़ दिया, नहीं तो मेरी भी ऐसी ही दुर्दशा होती। अब मेरा अरविंद केजरीवाल से कोई रिश्‍ता नहीं है। मुझे नहीं पता क्‍या गलत है और क्‍या सही। लेकिन जब भी मैं अखबार में उसके बारे में पढ़ता हूं तो मुझे दुख होता है।”
Anna Hazare

गौरतलब है कि 2011 में अन्‍ना आंदोलन के समय अरविंद केजरीवाल उनके सहयोगी थे। दोनों ने साथ मिलकर जनलोकपाल बिल के लिए दिल्‍ली में जंतर मंतर पर धरना दिया था। उस समय केजरीवाल अन्‍ना को अपना गुरु और मार्गदर्शक मानते थे।

उनके साथ मनीष सिसोदिया, कुमार विश्‍वास और किरण बेदी भी थी। हालांकि बाद में ये सभी राजनीति में आ गए। किरण बेदी भाजपा में चली गईं। अब वह पुडुचेरी की उपराज्‍यपाल हैं।

केजरीवाल के राजनीति में जाने के बाद अन्‍ना ने उनसे अपना नाता तोड़ लिया था। अन्‍ना राजनीति में जाने के खिलाफ थे। हालांकि इसी साल जनवरी में अन्‍ना ने केजरीवाल की तारीफ भी की थी। उन्‍होंने कहा था कि केजरीवाल साफ चरित्र के और आदर्शवादी हैं।

3 COMMENTS

  1. Anna- you seem to be a confused man. You praise him one day and then criticize him the other. But his behaviour and comments for you are always gracious.

    Few questions\comments for you to ponder upon:
    1) What is the outcome of IAC – what change has it got in the system? There is no Lokpal even today.
    2) Do you think BJP is any better than Congress? Will they bring about radical change in system? If no then what is the alternative?
    3) AAP might have made many blunders in Delhi but don’t you think AAP is much, much better than a Congress or BJP government? It had radically brought down corruption – till BJP took away their ACB. Manish Sisodia is doing great work in education and in health sector also they are doing very good. You should be raising your voice to try and help them get back their ACB rather than make these childish comments.
    4) Why did you ditch Mamata Banerjee? Will that be covered in this movie?
    5) You were going to start a big agitation for farmers and cover crore of people. What happened to that?

    If you cannot give strength to AK and his team then atleast don’t play spoil sport.

  2. Kejriwal ka charitra kharab anna ji…lekin kuch Kiran bedi ji and V.K. Singh ke bare me bhi bol dete to accha hota….woh bhi to apko lolipo de ke bhag gaye..

LEAVE A REPLY