राष्ट्रपति, PM मोदी और राहुल गांधी समेत तमाम नेताओं ने अनंत कुमार के निधन पर जताया शोक

1

केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का सोमवार (12 नवंबर) तड़के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह पिछले कुछ महीनों से फेफड़े के कैंसर से जूझ रहे थे। अमेरिका और ब्रिटेन में इलाज कराने के बाद वह हाल में ही बेंगलुरु लौटे थे। उनका बाद में यहां शंकरा अस्पताल में उपचार चल रहा था। अनंत कुमार के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने शोक जाहिर कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी।

संवेदना व्यक्त करते हुए राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि कुमार का निधन देश के सार्वजनिक जीवन के लिए बड़ा नुकसान है।उन्होंने ट्वीट किया, “केंद्रीय मंत्री एवं अनुभवी सांसद श्री एच.एन.अनंत कुमार के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ। यह हमारे देश के सार्वजनिक जीवन को और खासकर कर्नाटक के लोगों के लिए बड़ा नुकसान है। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार, साथियों एवं असंख्य मित्रों के साथ हैं।”

वहीं, प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘मैं अपने महत्त्वपूर्ण साथी एवं मित्र के निधन से बेहद दुखी हूं” और कुमार को एक असाधारण नेता बताया जो युवावस्था में ही सार्वजनिक जीवन में आए और काफी लगन और सेवा भाव से समाज की सेवा की। उन्होंने कहा कि वह अपने अच्छे कार्य के लिए हमेशा याद किए जाएंगे।

पीएम मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “अनंत कुमार जी एक सक्षम प्रशासक थे, जिन्होंने कई मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाली और भाजपा संगठन के लिये एक धरोहर थे। उन्होंने पार्टी को कर्नाटक और खासतौर पर बेंगलुरु और आस-पास के क्षेत्रों में मजबूत करने के लिये कठोर परिश्रम किया। वह अपने क्षेत्र की जनता के लिए हमेशा सुलभ रहते थे।’’

प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने कुमार की पत्नी डॉ. तेजस्विनी से बातचीत की और अपनी संवेदना प्रकट की। उन्होंने कहा, ‘‘इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदना उनके समूचे परिवार, मित्रों और समर्थकों के प्रति है। ओम शांति।’’ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कुमार के परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की।

गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार जी के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ। उनके परिवार और मित्रों के प्रति मेरी संवेदना है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे। ओम शांति।’ इसके अलावा बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कुमार ने अद्वितीय उत्साह एवं समर्पण के साथ पार्टी और राष्ट्र की सेवा की। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी कुमार के निधन पर गहरी संवेदना प्रकट की।

उन्होंने ट्वीट किया, “यह जानकर बहुत दुख हुआ कि श्री अनंत कुमार हमारे बीच नहीं रहे। भाजपा के लिए देशभर में और कर्नाटक में साथ-साथ काम किया। बेंगलुरु हमेशा से उनके दिलो-दिमाग में बसा हुआ था। ईश्वर उनके परिवार को यह दुख सहने की शक्ति दे।” केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वह अपने “वरिष्ठ सहयोगी एवं दोस्त” के निधन के बारे में सुनकर अचंभित हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, “बेहद वरिष्ठ सहयोगी और मित्र श्री अनंत कुमार जी के निधन से दुखी एवं अचंभित हूं। वह एक अनुभवी सांसद थे जिन्होंने विभिन्न क्षमताओं में देश की सेवा की। लोगों के कल्याण के प्रति उनका जुनून एवं लगन प्रशंसनीय था। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं।”

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कुमार के निधन को देश के लिए अपूरणीय क्षति बताया। कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने कुमार के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि वह “मूल्यों पर चलने वाले’’ नेता थे जिन्होंने एक केंद्रीय मंत्री और सांसद के तौर पर देश के लिए अहम योगदान दिया।

Pizza Hut

1 COMMENT

  1. Kisi ka marna dukhat hota hai magar aise logo ko mar hi jana chahiye kyun ke aise log sivaye nafrat ke samaj ko aur kuchh bhi nahi de sakte.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here