VIDEO: बेंगलुरु हिंसा के बीच सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल, मुस्लिम युवकों ने मानव श्रृंखला बनाकर बचाया मंदिर

0

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु के पुलाकेशी नगर में मंगलवार रात भीड़ ने थाने और कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के आवास में जमकर तोड़फोड़ की। इतने से ही गुस्सा शांत नहीं हुआ तो वहां मौजूद कई गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया। यह घटना विधायक के एक रिश्तेदार द्वारा सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक मुद्दे से जुड़े एक पोस्ट साझा किए जाने के बाद हुई। हिंसक विरोध प्रदर्शन के दौरान हालात को काबू करने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। इस दौरान तीन लोगों की मौत हो गई, जबकी कई लोग घायल हो गए। इस हिंसक प्रदर्शन के दौरान सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल पेश करने वाली एक घटना भी सामने आई, जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

बेंगलुरु

दरअसल, सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि बेंगलुरू में हुई हिंसा के दौरान मुस्लिम समुदाय के कुछ युवकों ने मंदिर को भीड़ से बचाने के लिए मानव श्रृंखला तैयार की और मंदिर को टूटने और नुकसान होने से बचाया। सोशल मीडिया पर इस वीडियो के सामने आने के बाद लोग इस कार्य की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

पुलिस ने बताया कि बड़ी संख्या में लोग विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के आवास के निकट जमा हुए और तोड़फोड़ की तथा वहां खड़े वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। इसके बाद भीड़ ने यह सोचकर थाने को निशाना बनाया कि पुलिस ने आरोपी को वहां हिरासत में रखा है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हिंसा को रोकने की कोशिश कर रहीं पुलिस टीमों के वाहनों को भी भीड़ ने क्षतिग्रस्त कर दिया।

पुलिस के मुताबिक, इस हिंसा में अब तक 3 लोगों की मौत हुई है और 60 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। शहर में निषेधात्मक आदेश लागू कर दिया गया है, वहीं डी.जे. हल्ली और के.जी. हल्ली थानाक्षेत्र की सीमा में कर्फ्यू लगा दिया गया। शहर के पुलिस आयुक्त कमल पंत ने कहा कि हिंसा के संबंध में 110 उपद्रवी गिरफ्तार किए गए हैं। साथ ही उन्होंने यह जानकारी भी दी कि आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट करने के आरोपी स्थानीय विधायक के भतीजे को गिरफ्तार कर लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here