भारतीय वायुसेना के दुर्घटनाग्रस्‍त विमान AN-32 में सवार जवानों सहित सभी 13 लोगों की मौत, ‘जनता का रिपोर्टर’ द्वारा बताए नामों की हुई पुष्टि

0

अरुणाचल प्रदेश के सियांग जिले में भारतीय वायुसेना के दुर्घटनाग्रस्‍त विमान एएन-32 में सवार वायु सेना के जवानों सहित सभी 13 लोगों की मौत हो गई है। भारतीय वायुसेना ने गुरुवार को ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। भारतीय वायुसेना ने कहा कि आठ सदस्यों का बचाव दल क्रैश साइट पर पहुंच गया है, जहां उन्हें कोई भी जीवित शख्स नहीं मिला है। वायुसेना ने बताया कि इस दुखद हादसे में मारे गए सभी 13 लोगों के परिवार को सूचना दे दी गई है।

REUTERS/File Photo

एएन-32 विमान के दुःखद क्रैश में जिन वायु योद्धाओं ने प्राण गंवाए हैं, उनमें विंग कमांडर जीएम चार्ल्स, स्वाड्रन लीडर एच विनोद, फ्लाइट लेफ्टिनेंट आर थापा, फ्लाइट लेफ्टिनेंट ए तंवर, फ्लाइट लेफ्टिनेंट एस मोहंती, फ्लाइट लेफ्टिनेंट एम के गर्ग, वॉरेंट ऑफिसर केके मिश्रा, सार्जेंट अनूप कुमार, कॉरपोरल शेरिन, लीड एयरक्राफ्ट मैन एसके सिंह, लीड एयरक्राफ्ट मैन पंकज, गैर-लड़ाकू कर्मचारी पुताली और गैर-लड़ाकू कर्मचारी राजेश कुमार शामिल हैं।

एयरफोर्स ने सभी हवाई योद्धाओं को श्रद्धांजली सर्मपित की है। आपको बता दें कि विमान में सवार सभी 13 लोगों के नाम का खुलासा सबसे पहले ‘जनता का रिपोर्टर’ ने किया था और भारतीय वायुसेना ने उन्हीं नामों पर मुहर लगाई है। दरअसल, अरुणाचल प्रदेश की पहाड़ियां बेहद रहस्यमयी मानी जाती हैं और यहां पहले भी कई बार ऐसे विमानों का मलबा मिला है। जिस जगह पर विमान का मलबा मिला है, वह करीब 12 हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित है।

रूस निर्मित विमान ने अरुणाचल प्रदेश के शि-योमि जिले के मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के लिए 3 जून को 12 बजकर 27 मिनट पर असम के जोरहाट से उड़ान भरी थी। जमीनी नियंत्रण कक्ष के साथ विमान का संपर्क दोपहर एक बजे टूट गया। विमान में चालक दल के आठ सदस्य और पांच यात्री सवार थे। आठ जून को, वायुसेना ने लापता विमान के स्थान का पता या इससे संबंधित जानकारी देने के लिए पांच लाख रुपये इनाम की घोषणा की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here