अमृतसर रेल हादसा: देखिए कैसे हादसे के बाद मौके से फरार हुआ था रामलीला का आयोजक, सामने आया वीडियो

0

पंजाब के अमृतसर में दशहरा पर रावण दहन कार्यक्रम के दौरान लगभग 61 लोगों के तेज रफ्तार रेलगाड़ी से कटने के बाद कार्यक्रम आयोजक भूमिगत हो गया था। हालांकि सोमवार को एक वीडियो जारी हुआ है जिसमें दावा किया जा रहा है कि उसने सभी अनुमति ले रखी थीं और कार्यक्रम के दौरान रेल की पटरी पर खड़े लोगों से वह स्थान खाली करने की अपील की जा रही है।

पंजाब मंत्रिमंडल के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी नवजोत कौर के करीबी सौरभ मदान मिट्ठू ने सोमवार को एक अज्ञात स्थान से वीडियो जारी किया जिसमें उसने दावा किया कि उसकी, उसकी पार्षद मां और अन्य आयोजकों की इस दुर्घटना में कोई गलती नहीं है।

सौरभ ने रुं धे गले से माफी मांगते हुए कहा, “हमने सभी जरूरी अनुमतियां ली थीं और दशहरा कार्यक्रम के मैदान में सभी जरूरी सुरक्षा उपकरणों को सुनिश्चित किया था। रेल की पटरी पर खड़े लोग मैदान से बाहर थे। हमने उनसे कई बार पटरी खाली करने के लिए कहा।” उसने कहा कि शुक्रवार शाम सात बजे जहां रावण दहन का कार्यक्रम था उस मैदान में अग्निशमन की गाड़ियां और पुलिस मौजूद थी।

हादसे के बाद भागने का वीडियो वायरल

इस बीच दशहरा मेले का आयोजन रेल पटरियों के पास बिना किसी आधिकारिक अनुमति के कराने वाला कांग्रेस पार्षद का बेटा सौरभ मदान का ट्रेन हादसे के बाद मौके से फरार होने का कथित वीडियो सामने आया है। हालांकि पुलिस को आयोजक सौरभ मदान की तलाश अब भी जारी है। पुलिस के मुताबिक कांग्रेस नेता का बेटा सौरभ मदान मिट्ठू ही रामलीला का मुख्य आयोजक है। वह हादसे के बाद से फरार है। वहीं सामने आए सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि जोड़ा फाटक में रामलीला का आयोजक सौरभ मदान मिट्ठू घटना के तुरंत बाद अपनी गाड़ी में बैठकर निकल गया।

वीडियो में साफ दिख रहा है कि सौरभ के साथ एक दो लोग पहले सड़क पर भागते नजर आते हैं, फिर पीछे से एक गाड़ी आती है, उसमें सौरभ बैठता है और मौके से फरार हो जाता है। घटना के बाद से रामलीला आयोजक सौरभ मदान मिट्ठू के घर पर ताला लटका हुआ है। उसके परिवार वाले भी फरार हैं। सभी के मोबाइल फोन भी बंद हैं। हादसे से नाराज कुछ लोगों ने शनिवार को उसके घर पर हमला किया। पथराव कर उन्होंने घर की खिड़कियां व शीशे तोड़ दिए हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here