अमरिंदर सिंह ने केजरीवाल को दी खुली बहस की चुनौती, केजरीवाल ने की चुनौती मंज़ूर

0

पंजाब में चुनावी सुगबुगाहट का दौर शुरू हो चुका है जिसके मद्देनज़र ट्विटर वार को ज़मीन पर उतारने की कवायद राजनेताओं ने शुरू कर दी है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अमरिंदर सिंह के बीच आज सोशल मीडिया पर हो रहे एक दूसरे का वार एक नए स्तर पर पहुंच गया है। जिसमें केजरीवाल ने कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा दी गई खुली बहस की चुनौती को स्वीकार कर लिया है।

Kejriwal-Amrinder-singh

कांग्रेस नेता कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने केजरीवाल के लिए ट्वीट करते हुए लिखा ‘इस तरह चिल्लाने में कोई बहादुरी नहीं है अगर साहस है तो खुली बहस में आओं और सामना करों। मैं तुम्हें चुनौती देता हूं। समय, जगह तुम चुन लो।’

इस ट्वीट के फौरन बाद केजरीवाल ने बिना समय गवाए कैप्टन अमरिन्दर सिंह को जवाब देते हुए लिखा ‘सर मैं आपकी चुनौती को स्वीकार करता हूं। इसके साथ ही मैं सुझाव देता हूं कि आप इस डिबेट में एच एस फुलका, जरनैल सिंह, भगवंत और गुरप्रीत को वक्ताओं के तौर पर रखे। समय और जगह आपकी इच्छानुसार।’

Also Read:  झूठ साबित हुआ BJP का दावा, विदेश सचिव ने सूचना दी, सेना ने पहले भी किए थे सर्जिकल स्ट्राइक लेकिन पहली बार सरकार ने इस सर्जिकल स्ट्राइक को सार्वजनिक किया

दरअसल अमरिन्दर सिंह का ये ट्वीट केजरीवाल के उस ट्वीट के जवाब में आया जिसमें केजरीवाल ने कहा था चुनाव अभियान में आप लोग ड्रग का पैसा इस्तेमाल कर रहे हैं।

Also Read:  मुझे यह कहने में संकोच नहीं है कि गोविंदा के दाऊद इब्राहिम से रिश्ते थे: राम नाइक

केजरीवाल ने ट्वीट किया था ‘सर, पंजाब के लोग बात कर रहे हैं कि आप ‘मजीठिया के मादक पदार्थ के रूपयों का इस्तेमाल अपने प्रचार अभियान में कर रहे हैं। क्या यह सही है? आपने तीन साल पहले उन्हें सीबीआई जांच में बचाया था। बता दें कि मजीठिया पंजाब के राजस्व मंत्री हैं।

अमरिंदर सिंह को लगा की केजरीवाल खुली बहस में ना आकर अपने पार्टी कार्यकर्ताओं के पीछे छिप रहे हैं।

उन्होंने कहा, पंजाबी सामने से बात करने में विश्वास रखते है ना कि दूसरों के पीठ पीछे छिपने में और आपने ये पहले ही स्वीकार कर लिया कि आप मुझसे खुली बहस में बात नहीं कर सकते।
इस पर केजरीवाल ने ट्वीट किया “सर मैं किसी के पीठ पीछे नहीं छिप रहा हूं। मैं सोनिया जी और राहुल जी से बहस के लिए तैयार हूं।’

Also Read:  गीता की स्वदेश वापसी के लिए हम प्रतिबद्ध: पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here