पनामा पेपर लीक मामले की नई कड़ी सामने आने के बाद एक बार फिर चर्चा में आए अमिताभ बच्चन

0

भारत सहित पूरे विश्व में भूचाल लाने वाला पनामा पेपर लीक मामले की एक नई कड़ी सामने आई है। इस नए लीक में करीब 12 लाख से ज्यादा नए दस्तावेज सामने आए हैं जिनमें से कम से कम 12,000 का कनेक्शन भारतीयों से है। इस कागजात में कई भारतीयों के भी नाम हैं जिनमें एक बड़ा नाम है हाइक मेसेंजर के सीईओ कविन भारती मित्तल का। बता दें कि कविन, टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल के फाउंडर सुनील भारती मित्तल के बेटे हैं।

बता दें कि इससे पहले 2016 में भी इंडियन एक्सप्रेस अंतरराष्ट्रीय खोजी पत्रकारों के संगठन आईसीजे के साथ मिलकर पनामा पेपर्स को लेकर बड़े खुलासे कर देश में भूचाल ला चुका है। जिसमें बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन सहित कई बड़े फिल्मी सितारों, राजनेताओं और व्यापारियों के नाम सामने आए थे। एक बार फिर पनामा पेपर लीक मामले की नई कड़ी सामने आने के बाद अमिताभ बच्चन का नाम चर्चा में आ गया है।

इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक अब नए खुलासे में एयरटेल के मालिक सुनील मित्तल के बेटे केविन भारती मित्तल का भी नाम सामने आया है। केविन हाइक मैसेंजर के सीईओ हैं। इसके अलावा एशियन पेंट्स के प्रमोटर अश्विन दानी के बेटे जलज दानी के नाम भी दस्तावेजों में सामने आए हैं। ये वे लोग हैं जिनकी विदेश में कंपनियां होने का पता चला है। मोसैक इनके लिए काम कर रही थी।

इसके अलावा अन्य प्रमुख हस्तियों में पीवीआर सिनेमा के मालिक बिजली परिवार का नाम सामने आया है। भारत में मल्टीप्लेक्स सिनेमा के मालिक अजय बिजली, उनकी पत्नी सेलेना और पुत्र आमेर ने ऑफशोर कंपनियां बनाकर यूके में प्रापर्टी का संचालन का खुलासा हुआ है। अप्रैल 2016 में जब पनामा पेपर्स को लेकर खुलासा हुआ था तब भी दस्तावेजों में बिजली परिवार की दो ऑफशोर कंपनियों के नाम सामने आए थे। इसमें दिल्ली की प्रिया एक्जीबिटर्स प्राइवेट लिमिटेड का नाम भी शुमार था।

जांच के घेरे में हैं अमिताभ बच्‍चन

बता दें कि जिन लोगों की विदेश में कंपनियां हैं उनमें अमिताभ बच्‍चन का नाम भी शामिल हैं। रिपोर्ट के मुताबिक 2016 में जो खुलासा हुआ था उसमें बताया गया था कि अमिताभ बच्‍चन लेडी शिपिंग लिमिटेड और ट्रेजर शिपिंग लिमिटेड के निदेशक हैं। उन्‍हें ब्रिटेन की मिनवेरा ट्रस्‍ट ने 90 दिन का नोटिस भेजा था। वह इन दोनों कंपनियों के एडमिनिस्‍ट्रेटर के तौर पर काम कर रही थी। इस मामले में एक और कंपनी सी बल्‍क शिपिंग कंपनी लिमिटेड का भी नाम सामने आया।

बता दें कि अमिताभ बच्चन का नाम पनामा पेपर्स मामले आया था और इस मामले की जांच आयकर विभाग भी कर रहा है। अमिताभ बच्चन के अलावा उनकी बहू और अभिनेत्री ऐश्वर्य राय बच्चन, अभिनेता अजय देवगन का नाम भी उन लोगों में शामिल है, जिन्हें ईडी नोटिस भेजने की तैयारी कर रहा है। हालांकि जांच का सामना कर रहे अमिताभ बच्‍चन ने इन कंपनियों से कोई ताल्‍लुक होने से इनकार किया है।

इस मामले में नाम आने पर अमिताभ बच्चन ने कोई भी गलत काम करने से इनकार किया था। अमिताभ ने कहा था कि उन्होंने भारतीय नियमों के तहत ही विदेश में धन भेजा है। उन्होंने पनामा पेपर्स में सामने आयीं कंपनियों से भी किसी तरह का संबंध होने से इनकार किया था।

क्या है पनामा पेपर्स मामला?

पनामा पेपर्स के दस्तावेज पनामा स्थित एक लॉ फर्म- मोसेक फॉन्सेका ने ही लीक किए थे। इस फर्म के 35 देशों में दफ्तर हैं। पनामा पेपर्स में 50 देशों के ऐसे 140 राजनेताओं के नामों का जिक्र है जिनके कथित रूप से विदशी अकाउंट हैं। इसमें 12 मौजूदा व पूर्व राष्ट्राध्यक्षों के नाम भी शामिल हैं।

इसके अलावा खिलाड़ी, प्रशासक और फोर्ब्स की सूची में शामिल 29 अरबपतियों के नाम भी इन पेपर्स में है। पनामा पेपर्स की जांच के लिए भारत वैश्विक टास्क फोर्स का हिस्सा है। यह फोर्स मामले की जांच के लिए जानकारी साझा करेगी और एक दूसरे का सहयोग करेगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here