‘मी टू’ अभियान से जुड़े सवालों को टालने पर आलोचना झेल रहे अमिताभ बच्चन ने आखिरकार चुप्पी तोड़ी, लेकिन लोगों ने फिर किया ट्रोल

0

भारत में जारी ‘मी टू’ अभियान से जुड़े सवालों को टालने के लिए कड़ी आलोचना झेल रहे बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने आखिरकार चुप्पी तोड़ दी है। उनका कहना है कि महिलाओं के साथ कभी भी दुर्व्यवहार नहीं होना चाहिए। दरअसल, अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा वरिष्ठ अभिनेता नना पाटेकर पर लगाए गए यौन उत्पीड़न के आरोपों पर पूछे गए सवालों से बचने के लिए अमिताभ की तीखी अलोचना हुई थी।

Photo: @topyaps

अमिताभ ने समाचार एजेंसी आईएएनएस को दिए इंटरव्यू में कहा, “किसी भी महिला के साथ दुर्व्यवहार नहीं होना चाहिए या उसके साथ बदतमीजी नहीं करनी चाहिए खासकर कार्यस्थल पर। ऐसे कृत्यों के बारे में जल्द ही संबंधित अधिकारियों को जानकारी देनी चाहिए और सही कदम उठाए जाने चाहिए। आप शिकायत दर्ज करा सकते हैं या कानून की मदद ले सकते हैं।”

उन्होंने कहा, “अनुशासन, सामाजिक और नैतिक पाठ्यक्रम प्रारंभिक शैक्षिक स्तर पर अपनाए जाने चाहिए। महिलाएं, बच्चें और हमारे समाज के कमजोर वर्ग सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं और उनकी विशेष देखभाल की जानी चाहिए। यह देखकर बहुत खुशी होती है कि हमारे देश में महिलाएं विभिन्न विभागों में कार्य कर रही हैं। अगर हम उन्हें सुरक्षा नहीं दे पाएंगे तो यह हमारी ऐसी गलती होगी जिसे हम सुधार नहीं पाएंगे।”

दरअसल, #MeToo के तहत अब तक कई नामी-गिरामी नाम सामने आए हैं, लेकिन तनुश्री-नाना पाटेकर मामले पर अभी भी बॉलीवुड में लोग बोलने से कतरा रहे हैं। इससे पहले जब अमिताभ बच्चन से ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तान’ के ट्रेलर लॉन्च के दौरान इस मामले पर राय मांगी गई थी तो उन्होंने यह कहकर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया था कि वो ना तो तनुश्री हैं और ना ही नाना। बिग बी के इस बयान से सभी चौंक गए थे। तनुश्री ने कहा था कि ऐसे लोग सामाजिक मुद्दों पर फिल्में करते हैं, लेकिन जब साथ खड़े होने की बात आती है तो ऐसे बयान देते हैं।

सोशल मीडिया पर एक बार फिर हुए ट्रोल

दवाब में आकर ‘मी टू’ अभियान पर अमिताभ बच्चन ने भले ही चुप्पी तोड़ दी हो, लेकिन लोगों को देरी से दिया उनका जवाब पसंद नहीं आया है। लोगों को लगता है कि अमिताभ ने आलोचकों को चुप कराने के लिए इस अभियान पर मजबूरी में अपनी चुप्पी तोड़ी है। आपको बता दें कि अमिताभ ने IANS को इंटरव्यू में यौन शोषण से पीड़ित किसी भी महिलाओं का नाम लेकर खुलकर उनका समर्थन नहीं किया है। यही वजह है कि उनकी चुप्पी तोड़ने के बावजूद सोशल मीडिया पर उन्हें ट्रोल किया जा रहा है।

वरिष्ठ पत्रकार अमिताभ श्रीवास्तव ने लिखा है, “अमिताभ बच्चन फिल्म के पर्दे पर यौन शोषण के खिलाफ भारी भरकम आवाज़ में कड़क संदेश देते हुए कहते हैं नो मतलब नो लेकिन जब पर्दे से बाहर असली ज़िन्दगी में उसी मुद्दे पर स्टैंड लेने की ज़रूरत है तो कितनी पिलपिली बातें कर रहे हैं।”

आपको बता दें कि अमिताभ की आगामी फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तां’ है जिसमें वह आमिर खान के साथ नजर आएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here