यह वक्त जवानों के साथ खड़े होने का है: अमिताभ बच्चन

0

उरी में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तानी कलाकारों पर पाबंदी लगाने की चौतरफा उठ रही मांग के बीच मेगास्टार अमिताभ बच्चन ने आज कहा है कि देश में नाराजगी है और अब समय आ गया है कि हम देश के जवानों के साथ खड़े दिखें।

अपने जन्मदिन के उपलक्ष्य में यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में इस आशय के सवाल का जवाब देते हुए अमिताभ ने यह बात कही। उन्होंने यह भी कहा कि वे कलाकारों का सम्मान करते हैं।

उरी हमले के बाद राज ठाकरे के नेतृत्व में मनसे ने पाकिस्तानी कलाकारों के भारत में काम करने पर आपत्ति जताई थी।

भाषा की खबर के अनुसार, बच्चन से पूछा गया कि भारत में काम कर रहे पाकिस्तानी कलाकारों के मुद्दे पर क्या बॉलीवुड बंटा हुआ तो उन्होंने कहा, ‘‘मेरा आपसे हाथ जोड़कर निवेदन है कि ऐसे सवाल पूछने के लिए यह सही समय नहीं है।’’ आज 74 साल के हो गए बच्चन ने कहा कि सीमा पर हालात के मद्देनजर सभी को भारतीय सैनिकों के साथ एकता दिखानी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘देश गुस्से से भरा हुआ है।

सीमा पर जो कुछ भी हो रहा है उससे देश के लोग बेहद गुस्से में है।’’ बच्चन ने कहा, ‘‘यह समय हमारे जवानों और सैन्य बलों के साथ एका दिखाने का है जो हमें सुरक्षित करने के लिए अपने जीवन का बलिदान कर रहे हैं। सवाल इसी पर आधारित होना चाहिए।’’ जब उनसे पूछा गया कि किसी देश विशेष के कलाकारों पर पाबंदी लगाई जानी चाहिए या नहीं तो उन्होंने कहा, ‘‘इस सवाल का जवाब मैं पहले ही दे चुका हूं। मैं सभी कलाकारों का सम्मान करता हूं।’’ बच्चन ने इन रिपोटरें को खारिज किया जिनमें कहा गया था कि बच्चन उरी के शहीदों के लिए गीत गाने वाले हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘यह सही नहीं है। मैं नई दिल्ली में था जब किसी सांसद ने मेरे द्वारा गाई गई हनुमान चालीसा, गणपति आरती की तारीफ की और कहा कि मुझे उनके :उरी के शहीदों: के लिए भी गाना चाहिए। उन्होंने जोर देकर कहा कि आपको गाना चाहिए और खबरों में आया कि मैं गाना गाउंगा।’’

LEAVE A REPLY