J&K: आतंकी बुरहान वानी की दूसरी बरसी पर अमरनाथ यात्रा रोकी गई, घाटी में इंटरनेट सेवा सस्पेंड

0

जम्मू-कश्मीर में आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की दूसरी बरसी पर घाटी में तनाव का माहौल है। पिछले साल बुरहान की पहली बरसी पर हुई हिंसा से सीख लेते हुए कश्मीर घाटी में संवेदनशील जगहों पर अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। अलगावादियों द्वारा बुलाई गई हड़ताल के मद्देनजर रविवार को एक दिन के लिए अमरनाथ यात्रा स्थगित कर दी गई है। वहीं एहतियात के तौर पर कश्मीर घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवा भी सस्पेंड कर दी गई है। हालांकि बीएसएनएल की ब्रॉडबैंड सेवा पर कोई रोक नहीं है।

File Photo: AP

समाचार एजेंसी PTI के मुताबिक राज्य के पुलिस महानिदेशक एसपी वैद्य ने शनिवार (7 जुलाई) को इसका ऐलान करते हुए कहा था, ‘ आपको बता है जम्मू-कश्मीर में कानून व्यवस्था की स्थिति अच्छी नहीं है, हमारी कोशिश तीर्थयात्रियों के लिए सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करना है। अलगाववादियों ने रविवार (8 जुलाई) को हड़ताल का आह्वान किया है, ऐसे में हमें यात्रा रोकनी पड़ी।’ वैद ने कहा, ‘यात्रियों की सुरक्षा और सुगमता हमारी शीर्ष प्राथमिकता है। मेरी तीर्थयात्रियों से अपील है कि उन्हें घाटी की (कानून-व्यवस्था की) स्थिति को ध्यान में रखकर हमारे साथ सहयोग करना चाहिए।’

घाटी में इंटरनेट सेवा सस्पेंड

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया कि कुलगाम जिले में 3 आम नागरिकों की मौत के मद्देनजर समूची कश्मीर घाटी इलाके में मोबाइल इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी गई है। उन्होंने बताया कि तीनों आम नागिरक सुरक्षा बलों और पत्थरबाज प्रदर्शनकारियों के बीच संघर्ष के दौरान कथित तौर पर सुरक्षा बलों की फायरिंग में मारे गए थे। बता दें कि जम्मू एवं कश्मीर के कुलगाम जिले में शनिवार (7 जुलाई) को सुरक्षाबलों के साथ हिंसक झड़प में 16 साल की एक युवती सहित तीन प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कश्मीर घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवा सस्पेंड कर दी गई है, हालांकि बीएसएनएल लैंडलाइनों पर ब्रॉडबैंड सेवा काम करती रहेगी। अधिकारी ने बताया कि कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवा को एहतियात के तौर पर निलंबित किया गया है। आतंकी बुरहान वानी की दूसरी बरसी के मद्देनजर कश्मीर घाटी के कुछ इलाकों में पाबंदियां भी लगाई गईं हैं।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि आज किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए दक्षिण कश्मीर के कुछ इलाकों (पुलवामा जिले के त्राल कस्बे और श्रीनगर के नौहट्टा और मैसुमा पुलिस थाना क्षेत्र) में पाबंदियां लगाई गई हैं। यहां की इंटरनेट सेवाएं भी बंद रहेंगी। इसके अलावा समूची घाटी में संवेदनशील जगहों पर अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है।

आपको बता दें कि दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के कोकरनाग इलाके में 8 जुलाई 2016 को हुई एक मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने त्राल के रहने वाले बुरहान वानी को मार गिराया था। हिज्बुल कमांडर बुरहान वानी घाटी में आतंक का पोस्टर बॉय था। उसकी मौत के बाद घाटी में बड़े पैमाने पर हिंसक प्रदर्शन हुए थे और लंबे समय तक कर्फ्यू लगा रहा था।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here