राजस्थान में इंसानियत शर्मसार: लाइन में खड़े-खड़े मरीज ने तोड़ा दम

0
बुखार से बीमारों की संख्या लगातार बढ़ रही है,और सरकारी अस्पतालों में गरीब जनता के इलाज में लापरवाही बरती जा रही है और प्राईवेट अस्पताल गरीब की माली हालत के कारण पहुंच से दूर हैं।
ऐसा ही एक मामला सामने आया है राजस्थान के अलवर में जिसमें इलाज के लिए कतार में लगे एक युवक ने दम तोड़ दिया। इससे पहले डॉक्टरों ने उसे भर्ती करने से साफ इनकार कर दिया था। युवक को तेज बुखार था जिससे उसकी मौत हो गई। परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार तेज बुखार होने के चलते युवक को रात के समय भी अस्पताल में भर्ती करने के लिए लाया गया था, लेकिन चिकित्सकों ने भर्ती किए बिना ही घर भेज दिया और फिर जब दोबारा सुबह तबीयत खराब हुई तो परिजन उसे लेकर फिर अस्पताल पहुंचे। दुबारा फिर डॉक्टरों ने इमरजेन्सी में भर्ती करने से मना कर दिया।

वहां मौजूद प्रभारी चिकित्सकों ने ड्यूटी डॉक्टर को दिखाने के लाइन में लगने को कहा। जब तक परिजन उसे ले कर लाइन में लगे युवक ने दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि जब तक लाइन में लगा मरीज चिकित्सक तक पहुंचा तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। इसके बाद परिजनों ने अस्पताल में हंगामा किया और विरोध जताते हुए चिकित्सकों पर आरोप लगाए। मृतक के परिजनों ने आरोपी डॉक्टर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here