चुनाव आयोग का बड़ा एलान, अब VVPAT मशीनों से होंगे आने वाले सभी चुनाव  

1

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस दौरान वहां दो मशीने होंगीं, एक मशीन में डेटा होगा, जबकि एक बिना डेटा के होगी। चुनाव आयोग दोनों ईवीएम मशीनों को सभी के सामने रखेगा। जिसके बाद राजनीतिक दलों के आगे दोनों ईवीएम में गड़बड़ी साबित करने की चुनौती होगी। मशीन को बिना खोले हैक करना होगा।

क्या है VVPAT?

दरअसल, VVPAT का मतलब होता है वोटर वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल। यह एक प्रिंटर मशीन है जो ईवीएम की बैलेट यूनिट से जुड़ी होती है। ये मशीन बैलेट यूनिट के साथ उस मतदान कक्ष में रखी जाती है, जहां मतदाता गुप्त मतदान करने जाते हैं। मतदान के समय VVPAT से एक परची निकलती है, जिसमें उस पार्टी और उम्मीदवार की जानकारी होती है, जिसे मतदाता ने वोट डाला होता है।

जैसे ही मतदान के लिए ईवीएम का बटन दबाया जाता है तब उसके साथ VVPAT पर एक पारदर्शी खिड़की के जरिए मतदाता को यह पता चल जाता है कि उसका वोट संबंधित उम्मीदवार को चला गया है। मतगणना के वक्त अगर कोई विवाद हो तो VVPAT बॉक्स की पर्चियां गिनकर ईवीएम के नतीजों से मिलान किया जा सकता है।

1 COMMENT

  1. I am at a loss to understand – why Mr. EC is advocating the M/C which is not only doubtful but also may risk the Indian Democracy when we are having Paper Ballot system with full CCTV coverage to conduct a ‘ free & fair election . ‘
    I may doubt the integrity of the Officer who is a Public Servant & showing a blind commitment to kill the Indian Democracy , purposely , by not only advocating the EVM but also ignoring the risk . Is not it looks like that – a person acting on behalf of an ISI or an CIA agent to destroy the worlds best Democracy where ‘ anekta may bhi ekta hai ‘ ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here