प्रियंका गांधी के कांग्रेस महासचिव बनने पर बोलीं अलका लांबा, ‘महिलाओं के सक्रिय राजनीति में आने से आधी आबादी को मिलेगी ताकत’

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार (23 जनवरी) को संगठन में बड़ा बदलाव करते हुए अपनी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा को पार्टी महासचिव नियुक्त करते हुए उन्हें उत्तर प्रदेश-पूर्व का प्रभार सौंपा। पार्टी की ओर से जारी बयान के मुताबिक, ज्योतिरादित्य सिंधिया को इसके साथ ही महासचिव-प्रभारी (उत्तर प्रदेश-पश्चिम) बनाया गया है।

प्रियंका गांधी

पार्टी के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल को संगठन महासचिव की जिम्मेदारी सौंपी गई है जो पहले की तरह कर्नाटक के प्रभारी की भूमिका निभाते रहेंगे। संगठन महासचिव की जिम्मेदारी संभाल रहे अशोक गहलोत के राजस्थान का मुख्यमंत्री बनने के बाद वेणुगोपाल की नियुक्ति की गई है।

उत्तर प्रदेश के लिए प्रभारी-महासचिव की भूमिका निभा रहे गुलाम नबी आजाद को अब हरियाणा की जिम्मेदारी दी गयी है। प्रियंका गांधी फरवरी के पहले सप्ताह में कार्यभार संभालेंगी।

प्रियंका गांधी के कांग्रेस महासचिव बनने पर आम आदमी पार्टी (आप) की नेता व चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा ने राजनीति में उनका स्वागत किया है। साथ ही उन्होंने कहा कि, ‘युवा हिंदुस्तान की राजनीति को एक बड़े बदलाव की जरूरत है, महिलाओं के सक्रिय राजनीति में आने से आधी आबादी को ताकत मिलेगी।’

अलका लांबा ने अपने ट्वीट में लिखा, “युवा हिंदुस्तान की राजनीति को एक बड़े बदलाव की जरूरत है, ऐसे में अगर नए युवा चेहरे सामने आते हैं, तो उनका स्वागत किया जाना चाहिये और अगर वो महिला हो, तो संस्कारों/भाषा का ध्यान रखते हुए और भी बड़ा स्वागत किया जाना चाहिये। महिलाओं के सक्रिय राजनीति में आने से आधी आबादी को ताकत मिलेगी।”

हालांकि, प्रियंका गांधी के कांग्रेस महासचिव बनने पर बीजेपी ने तंज कसा है और कहा है कि हर राज्य में महागठबंधन से नकारे जाने के बाद आखिर में कांग्रेस ने अब प्रियंका गांधी पर दाव खेला है। हालांकि, बीजेपी के इस बयान पर भी अलका लांबा ने तंज कसा है।

अलका लांबा ने अपने ट्वीट में लिखा, “भाजपा प्रवक्ताओं के बयानों से लग रहा है कि जैसे काँग्रेस द्वारा चुनावों से एक दम पहले प्रियंका नामक छोड़ा गया तीर बिल्कुल 56″ के सीने पर जा लगा हो। मोदी vs प्रियंका #वाराणसी?”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here